सभी ब्लॉक स्तरीय कोरोना कंट्रोल रूम में लगेंगे सीसी टीवी कैमरा

कलेक्टर ने ग्रामीण क्षेत्रो में कोरोना निगरानी के प्रभावी  प्रबंधन हेतु ली अधिकारियों की ऑनलाइन बैठक

अम्बिकापुर 06 मई 2021

शादी-व्याह सहित अन्य सामाजिक कार्यक्रमो में प्रतिबंधित आदेश का पालन ग्रामीणों द्वारा  नही करने के परिणामस्वरूप कोरोना संक्रमण  गॉंव में तेजी से बढ़ रहा है। सामाजिक कार्यक्रम में भीड़  पर बंदिश लगाने अब पटवारी गांव-गांव जाकर नियम का पालन नही करने वालों पर कार्यवाही करेंगे और गॉंव में होने वाले सभी सामाजिक कार्यक्रमो की जानकारी भी जुटाएंगे। कलेक्टर श्री संजीव कुमार  झा ने शुक्रवार को ग्रामीण क्षेत्रो में कोरोना निगरानी के  प्रभावी  प्रबंधन हेतु  अधिकारियों की ऑनलाइन बैठक में यह निर्देश दिए। उन्होंने ग्रामीण क्षेत्रो में कोरोना निगरानी दल सहित लॉकडाउन नियमो का कड़ाई से पालन सनिश्चित करने हेतु विस्तार से समीक्षा की।
 कलेक्टर ने कहा कि ग्रामीण क्षेत्रो में प्रतिबंधित आदेश का प्रभावी क्रियान्वयन हेतु तहसीलदार और थाना प्रभारी टीम गठित कर गांव के साप्ताहिक एवं अन्य छोटे बाजारों को किसी भी स्थिति में लगाने न दें। गॉंव में जिन स्थानों पर लोग इकट्ठा होते है खास कर युवा उन स्थानों का चिह्नकन कर नियमित निरीक्षण करें और जुर्माना की कार्यवाही करें। इसीप्रकार शादी-व्याह  पर भी कड़ी नजर रखें। बड़े टेंट-पंडाल लगाकर शादी करने वालो पर ज्यादा जुर्माना लगाए एजब्ती की कार्यवाही करें । उन्होंने कहा कि कार्यवाही धैर्यपूर्वक समझाईश देने के तौर पर हो। कार्यवाही में पुलिस बीट के इंचार्ज को भी शामिल करें। पुलिस अपने सूचना तंत्र  को मजबूत करें ताकि गाँव मे होने वाले कोई भी कार्यक्रम की सूचना समय पर  मिल सके।

इसे भी पढ़ें  राजनांदगांव : कोरोना टीकाकरण के ईरागांव मॉडल से सुदूर वनांचल क्षेत्रों में युवकों में आयी जागरूकता : वनांचल मानपुर में अधिकारियों की अनूठी पहल

कलेक्टर ने कहा कि एसडीएम, एसडीओपी और टीआई गाँव मे निगरानी को  प्रभावी बनाने रणनीति बनाये। शहर के नजदीकी गांव के लोग ज्याद  आना.-जाना  करते है जो मुख्य मार्ग के साथ  छोटे एवं कच्चे मार्गो का भी उपयोग करते है। इसलिए इन मार्गो पर भी निगरानी हो। इस समय शहर के आस -पास के क्षेत्रो में  महुआ शराब की बिक्री  बढ़ गई है। इसे भी सख्ती से रोकें। उन्होंने कहा कि  गांव में सख्ती बरतने पर जमाखोरी, कालाबाजारी कर सामग्री के मूल्य बढ़ाने की कोशिश होगी जिस पर कड़ी कार्यवाही करनी होगी। उन्होंने कहा कि तहसीलदार और  और  टीआई प्रत्येक गांव में पुलिस पेट्रोलिंग के लिए रूट चार्ट तैयार करें। प्रतिदिन रूट के अनुसार गांव में पहुंचकर स्पीकर में रिकार्डिंग चलाये कि कोरोना संक्रमण से बचने लॉकडाउन नियमों के पालन करे, नियम तोड़ने वालों पर कार्यवाही होगी।कलेक्टर ने ग्रामीण निगरानी दल के गठन की समीक्षा करते हुए  कहा कि ग्राम प्रभारी, क्लस्टर प्रभारी बनाने के बाद वाट्सअप ग्रुप भी बनाये। सभी जनपद पंचायत कार्यालय में बनाये गए ब्लॉक स्तरीय कंट्रोल रूम में अनिवार्य रूप से  दो-दो  सीसीटीवी कैमरे लगवाएँ ताकि जिला स्तर से भी मॉनिटरिंग हो सके। बीएमओ सीएचसी  में कम से कम 20 बेड को कोविड वार्ड अवश्य तैयार रखें। कोरोना के लक्षणए होंम आईसोलेशन, ओक्सिजन लेवल, तथा दवाई संबंधी जानकारी में लिए गांव में दीवाल लेखन, बैनर,जनपद के चैक चैराहों पर होर्डिंग लगवएँ।
बैठक में पुलिस अधीक्षक श्री टीआर कोशिमा ने कहा कि महुआ शराब की बिक्री और परिवहन पर सख्त कार्यवाही करें । प्रतिदिन कार्यवाही जारी रहे । इसी प्रकार चेक पोस्ट पर भी निगरानी पुख्ता रखे।
समाचार क्रमांक 700/2021

इसे भी पढ़ें  जांजगीर-चांपा : मुख्यमंत्री ने लोकवाणी में ‘विकास का नया दौर’ विषय पर की बात-चीत’

Source: http://dprcg.gov.in/