नारायणपुर : अबूझमाड़ पीस हाॅफ मैराथन 2020 :कलेक्टर ने की मैराथन की तैयारियों की समीक्षा

टाईगर ब्वाय की धरती से शुरू-माड़ की धरती पर खत्म होगी मैराथन दौड़

10 हजार से अधिक धावकों ने कराया आॅनलाइन पंजीयन

अन्तर्राष्ट्रीय अबूझमाड़ पीस हाॅफ मैराथन दौड 2020

            नारायणपुर 03 फरवरी 2020

 बस्तर टाईगर ब्वाय के नाम से मशहूर चेंदरू मंडावी की धरती नारायणपुर और आदिवासियों की संस्कृति संरक्षण स्थली अबूझमाड़ फिर एक बार विश्व पटल पर एक सकारात्मक पहचान बनाने के लिए आतुर है। माड़ के गुमराह, भटके युवा भी मुख्यधारा से जुड़ रहे है। माड़ में विकास के नये आयाम गढ़े जा रहे है। इस माह की 8 तारीख इसकी गवाह बनेंगी। जहां 10 हजार से अधिक धावक अबूझमाड़़ में पूर्ण शांति के लिए दौड़ लगायेंगे। इस मौके पर मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल निर्माण कार्यों का लोकापर्ण एवं भूमि पूजन करेंगे और विजयी धावकों को पुरस्कृत करेंगे। इसी सिलसिले में आज कलेक्टर श्री पी.एस.एल्मा ने अधिकारियों की बैठक लेकर तैयारियों की समीक्षा की। बैठक कलेक्टर की अध्यक्षता में कलेक्टोरेट के सभाकक्ष में आयोजित हुई। पुलिस अधीक्षक श्री मोहित गर्ग ने जानकारी देते हुए बताया कि अब तक 10 हजार से अधिक धावकों ने आॅनलाइन पंजीयन कराया है। पंजीयन की आज 3 फरवरी को अन्तिम तारीख है। बैठक में जिला प्रशासन एवं पुलिस प्रशासन के अधिकारी उपस्थित थे ।  

            कलेक्टर श्री पी.एस. एल्मा ने कार्यक्रम के लिए आमंत्रण पत्र वितरण, कार्यक्रम स्थल में पंडाल एवं साज-सज्जा, बैठक व्यवस्था, बैरीकेटिंग, सुरक्षा, यातायात, पार्किग, पेयजल और साफ-सफाई के लिए समुचित इंतजाम के निर्देश दिए। उन्होंने बाहर से आने वाले धावकों के रूकने, भोजन व्यवस्था आदि की जानकारी ली। उन्होंने कहा कि नारायणपुर के लिए यह गर्व की बात है कि यहां 10 हजार से अधिक धावकों ने दौड़ने के लिए पंजीयन कराया है। यह अपने आप में एक रिकार्ड। पिछले साल की तुलना में दोगुना धावकों का रजिस्टेªशन यह दर्शाता है कि अब माड़ पूर्ण शांति की दौड़ में पूरी तरह शामिल हो गया है। पिछले साल 5000 धावकों ने आनलाईन पंजीयन कराया था। रक्षित निरीक्षक श्री दीपक साव ने की गई तैयारियों के विस्तार से जानकारी दी। बैठक में मुख्य कार्यपालन अधिकारी जिला पंचायत श्री प्रेम कुमार पटेल, एसडीएम श्री दिनेष कुमार नाग, सहायक आयुक्त आदिवासी विकास श्री के.एस.मसराम, मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डाॅ ए.आर0. गोटा सहित अन्य अधिकारी उपस्थित थे।

पाराषर/140

About the author