मुंगेली 07 मई 2021

  वर्तमान में वैश्विक स्तर पर फैले कोरोना वायरस के संक्रमण की रोकथाम हेतु युद्धस्तर पर प्रयास किये जा रहे है। इसके बावजूद भी मुंगेली जिले में  कोरोना संक्रमण का फैलाव दिनों-दिन बढ़ता जा रहा है। इसे देखते हुए कलेक्टर एवं जिला दंडाधिकारी श्री पी.एस एल्मा और पुलिस अधीक्षक श्री अरविंद कुजुर ने आज पुलिस अधीक्षक कार्यालय के सभा कक्ष में संयुक्त रूप से राजस्व, पुलिस और जनपद पंचायत के अधिकारियों की बैठक ली। बैठक में उन्होने कहा कि कोरोना वायरस के संक्रमण की रोकथाम एवं बचाव के लिए जन जागरूकता अभियान चलाने की आवश्यकता है। उन्होने जनजागरूकता अभियान में समाज प्रमुखों, जनप्रतिनिधियों और समाजिक संगठनों को शामिल करने की बात कहीं। बैठक में उन्होने कहा कि कंटेन्मेंट जोन के तहत सभी नियमों का भली भाति पालन करे और कोरोना से संबंधित बिहेवियर का पालन करे। उन्होने कहा कि  कोई ऐसा कार्य न करें, जिससे कोरोना चैन को तोड़ने के प्रयासों में व्यवधान उत्पन्न हो। उन्होने कोरोना चैन को तोड़ने के प्रयासों में व्यवधान उत्पन्न करने वालो के विरूद्ध पुलिस में प्रथम सूचना रिपोर्ट (एफ आई आर) दर्ज करने के निर्देश दिये। उन्होने कहा कि होम आईसोलेेशन के मरीज बाहर निकल जाते है, जो कोरोना का फैलाव में मददगार साबित होते है। अतः उन्होने होम आईसोलेशन के मरीजो पर विशेष ध्यान देने के भी निर्देश दिये। बैठक में उन्होने कहा कि जिले के सीमाओं को सील किया गया है। सीमाओं पर सख्ती बरतने के भी  निर्देश दिये। बैठक में उन्होने निरंतर की जा रही पुलिस पेट्रोलिंग की भी समीक्षा की। उन्होने कहा कि शाम 05 बजे से रात्रि 07 बजे तक  चाौक चाौराहों पर समुह बनाकर बैठे रहते है। जो लाॅक डाउन नियमों की विरूद्ध है। अतः उन्होने सुबह, दोपहर के आलावा शाम 05 बजे से रात्रि 07 बजे तक पुलिस पेट्रोलिंग करने के निर्देश दिये। बैठक में उन्होने कहा कि कोई भी व्यक्ति एक गाॅव से दूसरे गाॅव आ जाते है। जिसके कारण भी संक्रमण फैल सकती है। अतः उन्होने बाहरी व्यक्ति को गांव में न आने देने की भी बात कही। उन्होने कहा कि  गाॅव में आने से पहले उनका टेस्ट कराएं। जाॅच रिपोर्ट में निगेटिव आने पर ही गाॅव में प्रवेश दिया जाए। बैठक में कहा गया कि प्रवासी श्रमिक क्वारेटाईन सेंटर में न जाकर सीधे अपने घर चले जाते है। जो प्रोटोकाॅल नियम के विरूद्ध है। अतः उन्होने प्रवासी श्रमिको की जाॅच रिपोर्ट आने तक उन्हे क्वारेटाईन सेंटर में ही ठहराने के निर्देश दिये। बैठक में उन्होने कोरोना पाॅजीटिव रहित गांव, पाॅजीटिव वाले गांव और कंटेन्मेंट जोन गांव के संबंध में जानकारी प्राप्त की । बैठक में उन्होंने कहा कि मितानिनों को मेडिकल कीट उपलब्ध करायी गई है। प्रारम्भिक लक्षण आने पर तत्काल दवाई उपलब्ध करायी जाएं। ताकि मरीज शीघ्र ठीक हो। बैठक में उन्होने 45 वर्ष से अधिक उम्र के लोगों में किये जा रहे टीकाकरण कार्य की प्रगति के संबंध में जानकारी प्राप्त की और टीकाकरण कार्य में भी जन जागरूकता लाने की बात कहीं। बैठक में कहा कि लाॅक डाउन के संबंध में पुलिस लोगों से नम्रता के साथ बात करे, बात नहीं सुनने पर ही कार्यवाही करने के निर्देश दिये। बैठक में उन्होने कहा कि कोरोना संक्रमण से खुद को और दूसरों को बचाये। इसके लिए उन्होने लोगों को हमेशा मास्क का उपयोग करने, शारीरिक दूरी बनाये रखने, हाथों को साबुन से धोने और सेनेटाईजर का उपयोग करने की सलाह देने के निर्देश दिये। इस अवसर पर अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक श्री अनिल सोनी, उप पुलिस अधीक्षक, सभी अनुभाग के अनुविभागीय अधिकारी राजस्व, जिले के सभी पुलिस थाना के थाना प्रभारी और सभी जनपद पंचायत के मुख्य कार्य पालन अधिकारी एवं नगर पालिका मुंगेली के मुख्य नगर पालिका अधिकारी उपस्थित थे।  क्रमांक//लहरे/

इसे भी पढ़ें  रायपुर : मुख्यमंत्री का छत्तीसगढ़ प्रदेश संयुक्त शिक्षक संघ ने आभार जताया :  दिवंगत शिक्षकों के आश्रितों को अनुकम्पा नियुक्ति देना सच्ची श्रद्धांजलि

Source: http://dprcg.gov.in/