दोनों कॉलेजों की व्यवस्थाओं की समीक्षा की, लाइब्रेरी को और अधिक

छात्रोपयोगी बनाने के दिए निर्देश

रायपुर. 3 फरवरी 2020

स्वास्थ्य मंत्री श्री टी.एस. सिंहदेव ने आज यहां रायपुर आयुर्वेदिक कॉलेज में रायपुर और बिलासपुर आयुर्वेदिक कॉलेज के स्वशासी कार्यकारिणी समिति की बैठक ली। उन्होंने बैठक में दोनों कॉलेजों के संचालन और व्यवस्थाओं की समीक्षा की। स्वास्थ्य मंत्री को दोनों कॉलेजों के प्राचार्यों ने बेहतर संचालन तथा अध्यापन के लिए अपनी संस्थाओं की जरूरतों से भी अवगत कराया। श्री सिंहदेव ने स्वशासी कार्यकारिणी समिति की बैठक हर तीन महीने में आयोजित करने के निर्देश दिए।

      बैठक में दोनों आयुर्वेदिक कॉलेजों में फीस, शिष्यवृत्ति, छात्रावास व्यवस्था, इंटर्नशिप तथा प्राध्यापकों व अन्य स्टॉफ के मानदेय के युक्तिसंगत निर्धारण पर विचार-विमर्श किया गया। प्राध्यापकों के रिक्त पदों को राज्य लोक सेवा आयोग के माध्यम से भरने पर भी चर्चा की गई। स्वास्थ्य मंत्री श्री सिंहदेव ने रायपुर आयुर्वेदिक कॉलेज की लाइब्रेरी को आधुनिक बनाने के निर्देश दिए। उन्होंने यहां ई-लाइब्रेरी विकसित करने और विभिन्न विषयों की छात्रोपयोगी अधिक से अधिक किताबें खरीदने कहा। श्री सिंहदेव ने आयुर्वेद के विशद अध्ययन-अध्यापन के लिए यहां के प्राध्यापकों और छात्र-छात्राओं को अन्य राज्यों का भ्रमण करने कहा। उन्होंने आयुर्वेद के विभिन्न पहलुओं पर मंथन और विद्यार्थियों के बहुमुखी शिक्षण के लिए दूसरे राज्यों के विशेषज्ञों को यहां आमंत्रित करने के सुझाव भी दिए।

इसे भी पढ़ें  रायपुर ‘पपेट शो एवं कमिशिबाई थिएटर’

      श्री सिंहदेव ने स्वशासी समितियों द्वारा रायपुर और बिलासपुर आयुर्वेदिक कॉलेज के संचालन और वहां शिक्षण के लिए की गई व्यवस्थाओं पर संतोष जाहिर किया। उन्होंने रायपुर आयुर्वेदिक कॉलेज परिसर में साफ-सफाई की भी प्रशंसा की। बैठक में स्वास्थ्य विभाग की सचिव श्रीमती निहारिका बारिक सिंह, संचालक आयुष श्री जी.एल. बदेशा, रायपुर आयुर्वेदिक कॉलेज के प्राचार्य डॉ. जी.एस. बघेल, रजिस्ट्रार डॉ. संजय शुक्ला और बिलासपुर आयुर्वेदिक कॉलेज के प्राचार्य डॉ. आर.पी. गुप्ता सहित दोनों स्वशासी समिति के सदस्यगण मौजूद थे।    

क्रमांक-5404/कमलेश