ग्रामीण क्षेत्रों में स्थापित क्वारंटींन केन्द्र संक्रमण रोकने में सहायक

सुकमा 04 मई 2021

मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल ने आज वीडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यम से जिले के स्वास्थ्य विभाग के मितानिनों और बहुउद्देश्यीय कार्यकर्ताओं से मेडिकल किट की उपलब्धता एवं वितरण के सम्बंध में जानकारी प्राप्त की।
जिला कलेक्टोरेट स्थित स्वान कक्ष से जिले के जनपद पंचायत सुकमा एवं कोण्टा के मितानिन और बहुउद्देश्यीय स्वास्थ्य कार्यकर्ता वीडियो कांफ्रेसिंग में शामिल हुए। मुख्यमंत्री श्री बघेल ने वीडियो कांफ्रेसिंग के माध्यम से जनपद पंचायत सुकमा की मितानिन प्रशिक्षक श्रीमती संजुला जोसेफ से बात की और उनके क्षेत्र की जनसंख्या, घरों की सँख्या, दवाई किट की  उपलब्धता, वितरण, पॉजिटिव मरीजो की सँख्या, होम आइसोलेशन में मरीजो की सँख्या, स्वस्थ होने वाले मरीजों की सँख्या आदि के बारे विस्तारपूर्वक जानकारी प्राप्त की।
        मुख्यमंत्री श्री बघेल ने कहा कि कोविड-19 की विकट परिस्थितियों में मितानिनों की भूमिका महत्वपूर्ण है, वे अपने कार्य क्षेत्र में सजग और मुस्तैद होकर कार्य कर रही हंै। जिसके फलस्वरूप कोरोना संक्रमित मरीज शीघ्र स्वस्थ हो रहे है। उन्होंने कहा कि प्रारम्भिक लक्षण आने पर दवाई देने से मरीज शीघ्र ठीक हो रहे है। लक्षण दिखते ही कोरोना जांच करवाने में लोगो की मदद करे और तत्काल दवाइयों की किट उपलब्ध कराएं। इसके साथ ही उन्होंने ग्रामीण जनों में कोविड टीके के प्रति जागरुकता लाने और पात्र हितग्राहियों को टीकाकरण के लिए प्रोत्साहित करने हेतु मितानिनों की भूमिका को महत्वपूर्ण बताया। उन्होंने मितानिनों को प्रतिदिन अपने पारा मोहल्ला में भ्रमण कर लोगों की जाँच करने और केाविड यथोचित व्यवहार का पालन करवाने हेतु प्रेरित किया।
इस अवसर पर सुकमा विकास खण्ड चिकित्सा अधिकारी डॉ. डीपेश चन्द्राकर, कोण्टा विकास खण्ड चिकित्सा अधिकारी डॉ. कपिलदेव कश्यप, जनपद पंचायत सुकमा के मुख्य कार्यपालन अधिकारी श्री कैलाश कश्यप, सहित जनपद पंचायत सुकमा एवं कोण्टा की मितानिन एवं बहुउद्देश्यीय स्वास्थ्य कार्यकर्ताएं मौजूद थी।
235/2021/किशोर

इसे भी पढ़ें  बलरामपुर : कोरोना के प्रति जनजागरूकता में स्थानीय बोलियों को प्राथमिकता दे रहा है प्रशासन, सरगुजिहा में लोगों की दी जा रही है जानकारी : भाषाई स्तर पर की गई पहल महामारी से लड़ने में होगी कारगर

Source: http://dprcg.gov.in/