गरियाबंद 15 जून 2021

प्रदेश के पंचायत एवं ग्रामीण विकास, लोक स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण, चिकित्सा शिक्षा, बीससूत्रीय, वाणिज्यिक कर मंत्री श्री टी.एस. सिंहदेव ने आज वर्चुअल वीडियो कॉन्फेंसिंग के माध्यम से न्यूमोकोकल कॉन्जूगेट वैक्सीन का शुभारंभ किया। शुभारंभ अवसर पर बताया गया कि बच्चों को न्यूमोकोकल कॉन्जूगेट वैक्सीन की प्रथम डोज 6 सप्ताह (डेढ़ माह) दूसरी डोज 14 सप्ताह (साढ़े तीन माह) व बुस्टर डोज 9 माह में दिया जाना है। शुभारंभ पश्चात् शिशुवती माता राज लक्ष्मी साहू की डेढ़ माह की पुत्री सृष्टी साहू को सर्वप्रथम जिला चिकित्सालय गरियाबंद में वैक्सीनेटर सुश्री दुर्गेशनंदनी चंद्राकर द्वारा न्यूमोकोकल कॉन्जूगेट वैक्सीन (पीसीवी) की प्रथम खुराक का टीका लगाया गया।

मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. एन. आर. नवरत्न ने जानकारी देते हुए बताया कि नियमित टीकाकरण कार्यक्रम के तहत नया टीका-न्यूमोकोकल कॉन्जुगेट वैक्सीन जोड़ा गया है। यह न्यूमोकोकल न्यूमोनिया और अन्य न्यूमोकोकल बीमारियों से सुरक्षा प्रदान करेगा। न्यूोकोकल न्यूमोनिया फेफड़ों का एक संक्रमण है जिसमें बच्चें को संास लेने में कठिनाई, पसलियों का चलना, बुखार, खांसी आदि होती है। यदि गंभीर हो, तो इससे बच्चें की मृत्यु भी हो सकती है। न्यूमोकोकल न्यूमोनिया बीमारी संास के द्वारा (जैसे खांसी या छींकने के कारण ) एक व्यक्ति से दूसरे व्यक्ति में फैलती है। भारत सरकार द्वारा पीसीवी नियमित टीकाकरण कार्यक्रम अंतर्गत सरकारी स्वास्थ्य केन्द्रों एवं टीकाकरण सत्रों में बच्चों को मुफ्त लगाया जा रहा है। आशा/आंगनबाड़ी कार्यकर्ता के माध्यम से अगले टीकाकरण सत्र की तारीख और स्थान के बारे में सूचित किया जायेगा। इसके अलावा अगली निर्धारित खुराक के लिए टीकाकरण सत्र में एम. सी. पी. कार्ड साथ में रखने की जानकारी भी दिया जा रहा है। टीकाकरण के बाद यदि कोई मामूली प्रतिकूल घटना होती है तो ए.एन.एम. और चिकित्सा अधिकारी को सूचित करें और निकटतम स्वास्थ्य केन्द्र या जिला अस्पताल में अवश्य दिखाये।     

इसे भी पढ़ें  रोजगार सहायकों को कोविड अनुकूल व्यवहार के बारे में दिया जाएगा प्रशिक्षण

     मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ. नवरत्न ने अपील किया है कि बच्चों को निमोनिया से सुरक्षा हेतु न्यूमोकोकल कॉन्जुगेट वैक्सीन की सभी 03 खुराक आवश्य लगायें। यह टीका समस्त स्वास्थ्य केन्द्रो में नियमित टीकाकरण के दौरान निःशुल्क लगाया जायेगा। इस अवसर पर जिला कार्यक्रम प्रबंधक, जिला टीकाकरण अधिकारी, विकासखण्ड कार्यक्रम प्रबंधक, मितानिन व अन्य स्टॉफ उपस्थिति थे।