कलेक्टर ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से मनरेगा एवं गोधन न्याय योजना के प्रगति के संबंध मंे ली अधिकारियों की बैठक
कलेक्टर ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से मनरेगा एवं गोधन न्याय योजना के प्रगति के संबंध मंे ली अधिकारियों की बैठक
  • मनरेगा में मजदूरो की संख्या बढ़ाने निर्देष
  • गौठानो में निर्मित खाद की छनाई, पैकेजिंग, एवं पोर्टल पर एंट्री कार्य गम्भीरता से करने के दिए निर्देश
  • गौठानों में फलदार पौधे रोपित करने के दिए निर्देष

जशपुरनगर 05 जून 2021

कलेक्टर श्री महादेव कावरे ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से जिले में मनरेगा योजना एवं गोधन न्याय योजना की प्रगति के संबंध मंे अधिकारियों की बैठक ली। उन्होंने मनरेगा योजना, गौठान में खाद निर्माण प्रगति, निर्मित खाद का पोर्टल में ऑनलाइन एंट्री कार्य की विस्तार से समीक्षा की। इस अवसर पर मुख्य कार्यपालन अधिकारी जिला पंचायत श्री के. एस. मंडावी, उप संचालक कृषि विभाग, समस्त एसडीएम, जनपद सीईओ, तहसीलदार, एसएडीओ कृषि, नोडल अधिकारी अपेक्स बैंक सहित जुड़े थे।

कलेक्टर ने जिले में मनरेगा योजना के अंतर्गत मजदूरों की संख्या बढ़ाने एवं मजदूरी वाले कार्यो को प्राथमिकता से पूर्ण कराने के लिए सभी जनपद सीईओ को निर्देषित किया। उन्होंने सभी विकास खंडों में नरवा विकास से संबंधित छोटे-छोटे कार्यों को बरसात के पूर्व पूर्ण कराने की बात कही। कलेक्टर ने किसानों से उनकी अनुपजाऊ या टीकरा जमीन पर धान की फसल की जगह इमारत, छायादार  व फलदार पौधों का रोपण कराने की बात कही। इस हेतु उन्होंने एसडीएम एवं  तहसीलदार को पटवारियों के माध्यम से किसानों को प्रोत्साहित करने के निर्देष दिए। उन्होंने इस वर्ष वृक्षारोपण के अंतर्गत गौठानों में फलदार पौधे रोपित करने की बात कही जिससे आगे चलकर गौठान से जुड़ी महिला समूह को लाभ मिल सके। साथ ही पौधे के बीच इंटरक्रापिंग फसल का भी लाभ लेने की बात कही।

इसे भी पढ़ें
जशपुरनगर : कलेक्टर के मार्गदर्शन में जिले में टीका करण का कार्य सतत जारी
जशपुरनगर : कलेक्टर ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से मनरेगा एवं गोधन न्याय योजना के प्रगति के संबंध मंे ली अधिकारियों की बैठक

  कलेक्टर ने गौठानो में खाद निर्माण प्रकिया में तेजी लाने के निर्देश दिए। साथ ही गोठानों में निर्मित खाद की जल्द से जल्द छनाई एवं पैकेजिंग कार्य को पूर्ण करने के निर्देष दिए। उन्होंने कहा कि खाद उत्पान में पीछे नहीं होना हैं। इसे बढ़ाने के लिए विषेष प्रयास करने की आवष्यकता है। उन्होंने उत्पादित खाद की पोर्टल पर ऑनलाइन एंट्री कार्य को गंभीरता से पूर्ण करने के लिए कहा। साथ ही गोठानों मंे उत्पादित वास्तविक खाद की मात्रा पोर्टल पर प्रदर्शित होनी चाहिए। जिससे गौठानो में निर्मित खाद की सही जानकारी पोर्टल के माध्यम से पता चल सके एवं उसका सोसाइटी के माध्यम से किसानों को विक्रय करवाया जा सके। साथ ही सभी एसएडीओ को सहकारी समितियों में वर्मी खाद की मात्रा की मांग उपलब्ध कराने के निर्देष दिए।

कलेक्टर ने कहा कि ऐसे क्षेत्र जहां नेटवर्क की समस्या की वजह से गौठान में निर्मित खाद की जानकारी पोर्टल पर एंट्री नहीं हो पा रही है ऐसे गोठानों में निर्मित खाद की जानकारी  तहसील मुख्यालय में आकर एन्ट्री कराना सुनिश्चित करें। उन्होंने खाद निर्माण, छनाई, पैकेजिंग एवं डाटा एंट्री से संबंधित कार्य में लापरवाही बरतने वाले गोठान के नोडल अधिकारियों को नोटिस जारी करने के लिए अधिकारियों को निर्देशित किया। साथ ही संबंधित अधिकारियों को नगरीय क्षेत्र के गौठानो का भी निरीक्षण कर वहां खाद निर्माण  के कार्य में तेजी लाने के लिए निर्देशित किया। कलेक्टर श्री कावरे ने गौठान समिति व महिला समूह के मध्य विक्रय की गई खाद की राशि का भुगतान  के वितरण के सम्बंध में जानकारी ली। उन्होंने एआरसीएस एवं नोडल अधिकारी अपेक्स बैंक को आपस मे समन्वय कर कार्य करने के लिए निर्देशित करते हुए शीघ्रता से गौठान समिति एवं महिला समूह के खाते में राशि अंतरित करने की बात कही।

इसे भी पढ़ें
रासायनिक खाद का सशक्त विकल्प है वर्मी कम्पोस्ट: मुख्यमंत्री बघेल

Read More