अब तक 14 लाख 25 हजार मानव दिवस रोजगार सृजित 

बिलासपुर, 31 मई 2021

 कोविड महामारी के कठिन दौर में ग्रामीण क्षेत्र में रोजगार की कमी नहीं है। जिले में महात्मा गांधी रोजगार गारंटी योजना के तहत इस समय 1 लाख 3891 मजदूर कार्यरत हैं। अब तक 14 लाख 25 हजार 876 मानव दिवस का रोजगार सृजित किया गया है। मार्च माह में महामारी के ही दौर में जरूरतमंद लोगों को मनरेगा के तहत रोजगार देने में बिलासपुर जिला अव्वल स्थान पर था, जिसमें लक्ष्य के विरुद्ध 133 फीसदी अधिक मानव दिवस रोजगार सृजित किये गये थे।  

जिले के 411 पंचायतों में  सोशल डिस्टेंसिंग और कोविड उपयुक्त व्यवहार के साथ मनरेगा के तहत सड़क निर्माण एवं समतलीकरण, तालाब गहरीकरण आदि के 1610 कार्य किये जा रहे हैं। हर दिन तखतपुर, मस्तूरी, कोटा एवं बिल्हा जनपद पंचायतों में एक लाख अधिक लोगों को रोजगार मिल रहा है।

विकासखंड बिल्हा में 394 कार्यों में 22 हजार 161 मजदूर कार्यरत हैं। यहां विभिन्न कार्यों के द्वारा 3 लाख 58 हजार 936 मानव दिवस रोजगार सृजित किये गये। इसी तरह कोटा में 397 कार्यों में 31 हजार 238 मजदूर कार्यरत हैं जहां 3 लाख 38 हजार 465 मानव दिवस रोजगार सृजन हुआ। मस्तूरी में 560 कार्यों में 29 हजार 63 मजदूर कार्यरत हैं। यहां 3 लाख 32 हजार 484 मानव दिवस रोजगार का सृजन हुआ। तखतपुर विकासखंड में चल रहे 259 कार्यों में 21 हजार 429 मजदूर कार्यरत हैं। यहां 3 लाख 99 हजार 991 मानव दिवस रोजगार सृजित किये गये।

इसे भी पढ़ें  मनरेगा ने तैराकी की पाठशाला को किया पुनर्जीवित

क्रमांक 561/अग्रवाल

Source: http://dprcg.gov.in/