दलपत सागर में पहुंचने लगा इंद्रावती नदी का पानी
दलपत सागर में पहुंचने लगा इंद्रावती नदी का पानी

बेमेतरा 27 मई 2021

कोरोना संक्रमण को शहर से लेकर गांव तक खत्म करने के लिए मितानिनों द्वारा घर-घर सर्वे कर कोरोना के लक्षण वाले लोगों की पहचान की जा रही है। वहीं मौसमी बीमारियों और कोरोना संक्रमण के लक्षण वाले मरीजों की पहचान होने पर मोबाइल मेडिकल यूनिट टीम द्वारा गांव-गांव जाकर लोगों का स्वास्थ्य परीक्षण कर दवाईयों का वितरण किया जा रहा है। सीएमएचओ डॉ एसके शर्मा ने बताया, “ग्रामीणजनों को उनके गांव में ही बेहतर चिकित्सा सुविधा मुहैय्या कराने की दिशा में जेएईएस मोबाइल मेडिकल की टीम द्वारा बेरला विकासखण्ड के ग्राम मनियारी और सिलघट में शिविर लगाकर लोगों का स्वास्थ्य परीक्षण किया गया। इस दौरान शिविर में दो दिनों में 64 मरीजों को निःशुल्क दवाई का भी वितरण किया गया”।

मोबाइल मेडिकल टीम के यूनिट प्रभारी डॉ अविनाश कुर्रे ने बताया, “आज ग्राम मनियारी में मोबाइल वैन के साथ जैसे ही हमारी टीम पहुंची ग्रामीणों के चेहरे में खुशी देखने को मिली। स्वास्थ्य के प्रति सजग होकर बड़ी संख्या में गांव के लोगों ने शिविर में पहुंचकर अपना स्वास्थ्य परीक्षण कराया। डॉ कुर्रे ने बताया, लोगों को समझाया जा रहा है कि अपनी व अपनों की सुरक्षा के लिए घर में ही रहे। आवश्यक कार्य होने पर ही घरों से बाहर मास्क लगाकर निकले। उन्होंने बताया कि अब लोगों का घरों में ही पहुंच कर स्वास्थ्य विभाग की टीम स्वास्थ्य परीक्षण करके घरों में ही दवाई उपलब्ध करा रही है। इस दौरान लोगों को बताया मोबाइल मेडिकल वैन से डरे नहीं। जिन्हें भी किसी प्रकार का शंका है वह अपना स्वास्थ्य का परीक्षण करवाए”।

इसे भी पढ़ें
21 जिलों में कोरोना का नया मामला नहीं

इस दौरान 34  मरीजों का पहचान कर उनका इलाज किया गया। इनमें सर्दी और खांसी के 9, सिरदर्द के 4  शुगर टेस्ट 2 डयरिया 1, आँख 1 , स्कीन फंगल इन्फेक्शन 6, वीकनेस और बॉडी पेन 7, बुखार 2  और गैस्ट्रिक के 2 मरीज शामिल हैं । इनका उपचार कर निशुल्क दवाई का वितरण किया गया

एमएमयू  की टीम ने सिलघट में कैम्प लगाकर 30  ग्रामीणों का उपचार किया

मोबाइल मेडिकल टीम के जिला प्रभारी रुपेंद्र मिश्रा ने बताया, “शिविर में सोशल डिस्टेंसिंग के साथ मास्क लगाने के नियमों का पालन किया जा रहा है। मरीजों को उपचार के पश्चात निशुल्क दवाई का वितरण करते हुएस्वास्थ्य विभाग की टीम को विशेष सतर्कता बरतने की बात कही गई। मोबाइल मेडिकल की टीम में डॉक्टर अविनाश कुर्रे, फार्मासिस्ट चंद्रभूषण, एएनएम केसर सिंहा, लैब टैक्निशियन टोपसिंग व पॉयलट नाराद निर्मलकर ने सुबह से शाम तक मेडिकल टीम में लोगों को सेवा प्रदान किया। उन्होंने बताया, जिले में दो मोबाइल मेडिकल टीम हर दिन शिविर लगा रही है। महीने में 25 गांवों का चयन कर शिविर लगाए जा रहे हैं”।

इसे भी पढ़ें
कवर्धा : शाला संगवारी, द्वितीय एएनएम और अन्य विशेष चिकित्सकों की होगी भर्ती 

समा. क्र.72

Source: http://dprcg.gov.in/