मलांजकुडुम झरना (Malajkudum Waterfall), Kanker, Chhattisgarh
मलांजकुडुम झरना (Malajkudum Waterfall), Kanker, Chhattisgarh

मलञ्झ्कुदुम झरना कांकेर की प्रमुख झरना है। कांकेर जिला छत्तीसगढ़ के दक्षिणी क्षेत्र में स्थित है। यह पहले पुराने बस्तर जिले का एक हिस्सा है। पांच नदिया जिले कि प्रवाह के माध्य से गुजरती हैं। ये पांच नदिया महानदी नदी, तुरु नदी, सिन्दुर नदी, दूध नदी और हतकुल नदी हैं। जिले की अर्थव्यवस्था कृषि पर आधारित है और क्षेत्र की मुख्य फसल चावल है। क्षेत्र के अन्य महत्वपूर्ण फसलें हैं – गन्ना, भुट्टा, चना, कोदो, मूंग, तिल्ली और गेहूं हैं।

मलञ्झ्कुदुम झरना, छत्तीसगढ़ मे प्राचीन काल से एक सबसे खूबसूरत झरना रहा है। इस खूबसूरत झरना का एक बड़ा पैमाने है भीड़ खिचना और सदियों से पर्यटकों को आकर्षित करना।

मलञ्झ्कुदुम झरना, जब उचाई से हवा का सीना फाड़ते हुए जमीन पर गिरता है वह बहोत ही देखनी होता है। इसकी ऊंचाई 10 मीटर से 15 मीटर और चौड़ाई 9 मीटर की हैं। भारत में कांकेर के मलञ्झ्कुदुम झरना दूध नदी पर कांकेर से 15 कि.मी. की दूरी पर है। दुनिया के हर कोने से और पूरे भारत से हर साल हजारों पर्यटकों द्वारा इसकी सुंदरता का लुफ्त उठाया जाता है।

Malajkudum Waterfall is located in the Kanker district of Chhattisgarh.

In northern Bastar, close-at-hand to Kanker district headquarter, it is an enormously ravishing waterfall.

18 km away from Kanker district headquarter, one reaches Malajkudum Waterfall. The helicoidal paths of the valley and the course leading to the hilltop give a thrilling experience. P.W.D.has constructed the road up to 1 km away from the falls.

Malajkudum Waterfall is a group of three waterfalls, where the uppermost and the bottommost falls are comparatively small and cascade down from a height of 15-20 ft. The height of the middle waterfall is 20-25 ft. The main characteristic of this waterfall, it is respectively on a height and in a hierarchical manner, so only one waterfall can be viewed at a time. River Dudh is the source of this waterfall. Similarly, 7kms away from Kanker, the confluence of ‘Dudh river’ and ‘Mahanadi’ is also awe-inspiring.

इसे भी पढ़ें  Godena WaterFalls

Malajkudum Waterfall is composed of three falls. Kanker District is located in the southern region of Chhattisgarh and was earlier a part of the old Bastar district. The five rivers that flow through the district include Doodh River, Hatkul River, Mahanadi River, Turu River, and Sindur River. The district’s economy is based on agriculture. The main crop of the area is Rice. The other major crops are chana, Kodo, wheat, sugar cane, bhutta, Moong, and Tilli.

Malajkudum Waterfall has been one of the most beautiful waterfalls since ancient times. The waterfall is a huge crowd puller and has been attracting tourists over a long period of time.

Malajkudum Waterfall Description

Malanjhkudum Waterfalls, Kanker is composed of three falls that are of 10 meters, 15 meters and 9 meters in height. The Malanjhkudum Waterfalls in Kanker in India is at a distance of 15 Kms from Kanker on the Doodh river. Every year thousands of tourists from each and every corner of the world and from all over India visit this beautiful and picturesque waterfall.

How to Reach Malajkudum Waterfall:

By Air

The name of the nearest airport from tourist place is Raipur and the distance from the airport is 142 kilometers

By Train

The name of the nearest railway station from tourist place is Raipur and distance from the station is 142 kilometers

By Road

Can easily go by bus to the tourist place.

इसे भी पढ़ें  कांकेर: ​​​​​​​शासकीय योजनाओं से ग्रामीण अर्थव्यवस्था को मिल रही मजबूती: शिशुपाल शोरी

Waterfalls in Chhattisgarh

Famous waterfalls in chhattisgarh

न्यूज़ अपडेट

न्यूज़ अपडेट

IPL Schedule 2022 Announced

The schedule for the Indian Premier League 2022 (IPL 2022) season has been announced, with Chennai Super Kings set to face Kolkata Knight Riders in the opener at the Wankhede Stadium in Mumbai on March 26. The BCCI announced the full scheduled in a press release on Sunday. “The Board of Control for Cricket in India…

रेडी टू ईट निर्माण

रायपुर। छत्तीसगढ़ में रेडी टू ईट पोषण आहार निर्माण और वितरण व्यवस्था के संबंध में वर्तमान में जारी व्यवस्था मार्च 2022 तक लागू रहेगी। राज्य सरकार द्वारा इस संबंध में जारी की गई नई पॉलिसी का क्रियान्वयन एक फरवरी 2022 से होना था, इसेे अब एक अप्रैल 2022 तक के लिए बढ़ा दिया गया है।…

कोदो, कुटकी और रागी की खरीदी अब 15 फरवरी तक

रायपुर। छत्तीसगढ़ में समर्थन मूल्य पर कोदो, कुटकी और रागी फसलों की खरीदी के लिए समयावधि अब 15 फरवरी 2022 तक बढ़ा दी गई है। इसके पहले इन फसलों की खरीदी के लिए 31 जनवरी तक की तिथि निर्धारित थी। गौरतलब है कि राज्य के विभिन्न क्षेत्रों में वर्षा होने के कारण मिंजाई में हुई…

मानवीय हस्तक्षेप मुक्त होगी नल कनेक्शन प्रक्रिया

रायपुर। गढ़बो नवा छत्तीसगढ़ की थीम पर काम करते हुए छत्तीसगढ़ शासन नागरिकों की सुविधाओं का लगातार विस्तार कर रही है। आनलाइन सेवाओं की वजह से नागरिकों के काम घर बैठे हो रहे हैं। इसी कड़ी में अब नल कनेक्शन के लिए भी नागरिकों को नगरीय निकाय कार्यालयों के चक्कर नहीं काटने होंगे। आम नागरिकों…

इसे भी पढ़ें  खुरसेल जलप्रपात (Khursel Waterfall), Narayanpur

मुख्यमंत्री स्लम स्वास्थ्य योजना 21 फरवरी तक सभी शहरों में

रायपुर। मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल ने इस गणतंत्र दिवस पर राज्य के सभी शहरों की स्लम बस्तियों में रहने वालों को एक बड़ी सौगात दी है। अब यहां के रहवासियों को इलाज के लिए अस्पताल जाने या खून की जांच और अन्य स्वास्थ्य परीक्षण के लिए इधर-उधर नहीं भटकना पड़ेगा। अब उनके इलाके में मोबाइल…

अवैध रेत उत्खनन के विरूद्ध सख्त कार्रवाई के निर्देश

रायपुर । मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल ने अवैध रेत उत्खनन करने वालों के विरुद्ध सख्त कार्रवाई करने के निर्देश दिए हैं। मुख्यमंत्री ने कलेक्टर और एसपी को निर्देश दिए हैं कि किसी भी जिले में अवैध रेत उत्खनन नहीं होना चाहिए। किसी भी जिले से अवैध रेत उत्खनन की शिकायत मिलने पर कलेक्टर और एसपी…

पीएमडी सीजी म्युजिक ने रि-लांच किया अपना चैनल….

पीएमडी सीजी म्युजिक ने दिलीप षडंगी के स्वर में दौना के पान के साथ अपना चैनल रि-लांच किया। आपको बता दें कि पीएमडी सीजी म्युजिक समय समय पर छत्तीसगढ़ी गाने लेकर आते रहा है। पीएमडी सीजी म्युजिक ने एक बार फिर दिलीप षडंगी की आवाज में दौना के पान के साथ अपना चैनल रि-लांच किया…

प्रभारी मंत्री ने किया कला केंद्र भवन का लोकार्पण

सूरजपुर। जिला प्रवास में प्रभारी मंत्री श्री शिव कुमार डहरिया ने आज नगर के वार्ड क्रमांक 16 में बने कला केंद्र भवन का फीता काटकर लोकार्पण किया। तत्पश्चात् माँ सरस्वती की छायात्रित पर पुष्पअर्पित कर दीप प्रज्जवलित किया गया।डा. शिव कुमार डहरिया ने कला केन्द्र के विभिन्न कक्षो का निरक्षण किया, जिसमें गायन कक्ष, नृत्य…

इसे भी पढ़ें  गंगा मैया मंदिर, झलमला | Ganga Maiya Temple, Jhalmala, Balod

​​​​​​​मंत्री श्री भगत ने ‘बुटेका एनीकट’ और ‘मारागांव तटबंध’ का किया निरीक्षण

रायपुर। खाद्य मंत्री एवं गरियाबंद जिले के प्रभारी मंत्री श्री अमरजीत भगत ने ग्राम बेंदकुरा के समीप सोंढूर नदी पर बने बुटेका एनीकट का आकस्मिक निरीक्षण किया। मंत्री श्री भगत 26 जनवरी को जिला मुख्यालय में गणतंत्र दिवस के अवसर पर ध्वजारोहण के पश्चात एनीकट का अवलोकन करने पहुंचे थे। आसपास के ग्रामीणों ने इसके…

उद्योग मंत्री कवासी लखमा ने दिव्यांग को बैटरी चलित ई-ट्राईसायकल प्रदान की

रायपुर। वाणिज्य एवं उद्योग मंत्री और दंतेवाड़ा जिले के प्रभारी मंत्री श्री कवासी लखमा ने बचेली स्थित रेस्ट हाउस परिसर में दिव्यांग श्री राम प्रसाद साहू को बैटरी चलित ई-ट्राईसायकल प्रदान किया। श्री राम प्रसाद साहू बचेली के वार्ड क्रमांक 5 के निवासी है, इससे पहले उन्हें सामान्य ट्राईसायकल उपलब्ध करायी गयी थी। बैटरी चलित…

कथित फर्जी डायरी कांड का 48 घंटे के भीतर पटाक्षेप

रायपुर। स्कूल शिक्षा विभाग के कथित फर्जी डायरी कांड का 48 घंटे के भीतर खुलासा करने पर रायपुर पुलिस का सम्मान किया गया है। स्कूल शिक्षा मंत्री डॉ. प्रेमसाय सिंह टेकाम ने रायपुर पुलिस के एसपी सहित पूरी टीम की सराहना की है। मंत्री डॉ. टेकाम ने आज सिविल लाईन स्थित पुलिस कंट्रोल रूम पहुंचकर…

इसे भी पढ़ें  Narhara waterfall, Dhamtari

राज्यपाल को नीट काउंसिलिंग संबंधी अनियमितता के संबंध में ज्ञापन दिया गया

रायपुर। राज्यपाल सुश्री अनुसुईया उइके से डॉ. कुलदीप सोलंकी ने भेंट कर राज्य में नीट परीक्षा की काउंसिलिंग की प्रक्रिया में नियमों की अनदेखी किए जाने के संबंध में ज्ञापन सौंपा। उन्होंने कहा कि राज्य में अभी तक इसका रजिस्ट्रेशन शुरू नहीं किया गया है। यहां राज्य की मेरिट लिस्ट जारी किए बिना ही च्वाइस…

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *