कोण्डागांव : अतिसंवेदनशील ग्राम बेचा के 19 नवयुवकोें को मिला राजमिस्त्री प्रशिक्षण
कोण्डागांव : अतिसंवेदनशील ग्राम बेचा के 19 नवयुवकोें को मिला राजमिस्त्री प्रशिक्षण

   कोण्डागांव, 11 जून 2021

जिले प्रशासन द्वारा लगातार अतिसंवेदनशील ग्रामों में युवाओं को रोजगारोन्मुखी कार्यों से जोड़ने एवं उनकी आय को बढ़ाने का प्रयास किया जा रहा है। जिसके तहत् बेचा के सामाजिक कार्यकर्ता एवं आयुषकर्मी प्रकाश बागड़े द्वारा राजमिस्त्री प्रशिक्षण ग्राम में आयोजित किये जाने की मांग को ध्यान में रखते हुए कलेक्टर पुष्पेन्द्र कुमार मीणा के आदेश पर जिला पंचायत की प्रधानमंत्री आवास योजना शाखा द्वारा प्रशिक्षण प्रदाता संस्था भास्कर फाउण्डेशन कोण्डागांव को प्रधानमंत्री आवास योजना-ग्रामीण (पीएमएवाय-जी) के तहत् आरपीएल प्रशिक्षण कराने को निर्देशित किया गया था। जिसके तहत् प्रारम्भिक मुल्यांकन इंस्टीट््यूट एण्ड वर्क फोर्स डेवेलपमेंट कटनी के मुल्यांकनकर्ता बद्री प्रसाद पंथ द्वारा करते हुए 72 घण्टोें के राजमिस़्त्री प्रशिक्षण की रूप रेखा तैयार की गयी। जिसके बाद 19 युवाओं को बेचा में ही राजमिस्त्री प्रशिक्षण दिया गया था। इन युवाओं की अंतिम मुल्यांकन परीक्षा इस माह आयोजित की जावेगी मुल्यांकन उपरांत सफल प्रशिक्षणार्थियों को एनएसडीसी से राजमिस्त्री प्रमाण पत्र प्रदान किया जायेगा।

    इसके लिए भास्कर फाउण्डेशन की ओर से समन्वयक उत्तम मानिकपुरी, प्रशिक्षक हरेंद्र कुमार पोर्ते, दशरु नेताम, सहायक प्रशिक्षक राम नेताम ने ग्राम पहुंचकर युवाओं को राजमिस्त्री के रूप में कार्य कर आय के नये साधनों के संबंध में बताया गया। इस प्रशिक्षण में उपसरपंच बजरसिंह कश्यप द्वारा भी विशेष योगदान दिया गया। इस संबंध में सामजिक कार्यकर्ता प्रकाश बागड़े ने बताया कि राजमिस्त्री प्रशिक्षण से क्षेत्र के युवाओं को रोजगार के नये माध्यम प्राप्त होंगें। वे निजी एवं शासकीय रूप से भी राजमिस्त्री का कार्य करने में सक्षम होेंगें। इस प्रशिक्षण की अंतिम मुल्यांकन के बाद सफल प्रशिक्षणार्थियों को एनएसडीसी से राजमिस्त्री प्रमाण पत्र प्रदान किया जायेगा।

इसे भी पढ़ें  राष्ट्रपति करेंगे छत्तीसगढ़ के शिक्षक श्री शुक्ला को सम्मानित