एक सप्ताह के भीतर ही 3 लाख 32 हजार 854 मानव दिवस का हुआ रोजगार सृजन

मनरेगा के माध्यम से लॉक डाउन में दिया जा रहा ग्रामीणों को रोजगार

जगदलपुर 07 मई 2021

कोरोना संकट से निकालने के लिए लगाए गए लॉकडाउन के दौरान ग्रामीणों को रोजगार उपलब्ध कराने में मनरेगा बहुत अधिक सहायक सिद्ध हो रही है। बस्तर जिले में मनरेगा के माध्यम से तालाब, डबरी और कुआं खनन पर विशेष जोर दिया रहा है, जिससे लोगों को खेती-किसानी, मछली पालन और पशुपालन के लिए आसानी से पानी उपलब्ध हो सके और भू-जल स्तर में भी वृद्धि हो। प्रशासन द्वारा मई माह में बस्तर जिले में 10 लाख 3 हजार 793 मानव दिवस के रोजगार का लक्ष्य रखा गया था और एक सप्ताह के भीतर ही 3 लाख 32 हजार 854 मानव दिवस का रोजगार दिया जा चुका है।
  बकावंड विकासखण्ड में 2 लाख 10 हजार 144 मानव दिवस, बास्तानार विकासखण्ड में 1 लाख 1 हजार 373 मानव दिवस, बस्तर विकासखण्ड में  60 हजार 348 मानव दिवस, दरभा विकासखण्ड में 9 हजार 933 मानव दिवस, जगदलपुर विकासखण्ड में 1 लाख 50 हजार 980 मानव दिवस, लोहण्डीगुड़ा विकासखण्ड में 1 लाख 9 हजार 933 मानव दिवस और तोकापाल विकासखण्ड में 1 लाख 21 हजार 8 मानव दिवस के सृजन का लक्ष्य रखा गया है और माह के पहले सप्ताह के भीतर ही बकावंड विकासखण्ड में 1 लाख 7 हजार 499 मानव दिवस, बास्तानार विकासखण्ड में 29 हजार 776 मानव दिवस, बस्तर विकासखण्ड में  60 हजार 348 मानव दिवस, दरभा विकासखण्ड में 29 हजार 145 मानव दिवस, जगदलपुर विकासखण्ड में 42 हजार 376 मानव दिवस, लोहण्डीगुड़ा विकासखण्ड में 32 हजार 477 मानव दिवस और तोकापाल विकासखण्ड में 31 हजार 233 मानव दिवस का सृजन किया जा चुका है।क्रमांक/544/शेखर

इसे भी पढ़ें  रायपुर : सभी कलेक्टर और पुलिस अधीक्षक सुनिश्चित करें कि शादी-ब्याह और दशगात्र कार्यक्रम में निर्धारित संख्या से अधिक लोग शामिल न हो - मुख्यमंत्री श्री बघेल

Source: http://dprcg.gov.in/