नारायणपुर, 5 जून 2021

आज विश्व पर्यावरण दिवस के अवसर पर ग्राम बिंजली निवासी किसान ई.आर. कुमेटी के बाड़ी जो कि कृषि विज्ञान केंद्र द्वारा मातृ फलोद्यान की स्थापना हेतु चिन्हित था। उसमें कृषि विज्ञान केंद्र के वैज्ञानिकों द्वारा फलदार वृक्षों जैसे आम, लीची एवं नींबू के स्वस्थ पौधों का रोपण किया गया। इस कार्यक्रम में बिंजली ग्राम के कई महिला किसान सम्मिलित हुई।

कृषि विज्ञान केंद्र के वैज्ञानिकों द्वारा यहां के किसानों को पूर्व में ही मातृ फलोद्यान से उच्च गुणवत्ता युक्त फलों के पौध तैयार करने हेतु प्रशिक्षित किया गया। इसी कड़ी में आज विश्व पर्यावरण दिवस के इस विशिष्ट अवसर पर ग्राम के किसानों में के संरक्षण के प्रति जागरूकता लाने के लिए फलदार पौध रोपण कार्यक्रम का आयोजन किया एवं संस्था के उद्यानिकी विशेषज्ञ श्री प्रदीप साहू ने बताया कि पर्यावरण को संरक्षित करते हुए हम कैसे मातृ फलोद्यान से स्वस्थ एवं गुणवत्ता युक्त पौधे तैयार कर एवं साथ ही साथ फलों का उत्पादन लेकर अपनी आय को बढ़ा सकते हैं और बताया कि यह ग्रामीण महिलाओं में व्याप्त कुपोषण से लड़ने का अच्छा कदम साबित होगा।

इस कार्यक्रम में ग्राम की महिला कृषकों के साथ-साथ कृषि विज्ञान केंद्र की पूरी टीम ने भाग लिया। इस अवसर पर कृषि विज्ञान केंद्र द्वारा विभिन्न शासकीय विभागों एवं किसानों को 450 नग फलों के पौधे वितरित किये गए।

एस.शुक्ल/राहुल/459

Source: http://dprcg.gov.in/

इसे भी पढ़ें  कलेक्टर की पहल पर नक्सल हिंसा पीड़ित परिवारों के लिए लगा समस्या निवारण शिविर