कोरोना : अब तक 1.35 करोड़ टीके लगाए गए
कोरोना : अब तक 1.35 करोड़ टीके लगाए गए

नारायणपुर, 7 जून 2021

इंदिरा गांधी कृषि विश्वविद्यालय रायपुर के अंतर्गत कृषि महाविद्यालय एवं अनुसधान केन्द्र नारायणपुर की राष्ट्रीय सेवा योजना इकाई और प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र, कोहकामेटा के संयुक्त तत्वावधान में विगत 5 जून 2021 को विश्व पर्यावरण दिवस के उपलक्ष्य में कोविड-19 वैक्सीनेशन एवं पोषण जागरूकता अभियान शिविर का आयोजन ग्राम कोहकामेटा में किया गया। इस अवसर पर हाट-बजार में आये ग्रामीणों को डॉ. रत्ना नशीने ने हरी फल्लीदार सब्जीयों और दाल को आहार में सम्मिलित करने को कहा जिससे प्रोटीन की पूर्ति हो सके।

जो मांसाहारी है वे अण्डा, मुर्गा-मटन को जरूर सम्मिलित करना चाहिए। अपने आहार में खटटे फल, टमाटर का उपयोग जरूर करें जिससे विटामीन सी प्राप्त होता है और सुरक्षा प्रणाली तंत्र और रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ती है। कोविड-19 के समय खान-पान, मास्क, साफ-सफाई का कड़ाई से पालन करने के लिए कहा गया। यह भी कहा गया कि वैक्सीनेशन लगवाकर अपने को सूरक्षित रखें। कोविड-19 की वैक्सीन से  इस महामारी के प्रति सुरक्षा कवच प्राप्त होगा जिससे आप अपने को सूरक्षित रख सकेंगे। हाट बजार में आए ग्रामीणों को वैक्सीन लगाने के लिए प्रेरित किया गया।

कृषि महाविधालय के डॉ.जीवनलाल नाग, वत्सल श्रीवास्तव, प्रखर श्रीवातव और डॉ. रत्ना नशीने द्वारा ग्रामीणों को मास्क पहनने के तरीके बताएं गये और ग्रामीणों को मास्क भी पहनाया गया। इस अवसर पर खासकर बच्चों को मास्क के बारे में जानकारी दी गई उन्हें कोविड-19 की प्रोटोकॉल की जानकारी  के साथ अपने हाथों को दिन में कई बार साबुन और पानी से धोने के लिये कहा गया और बाहर जाते समय मास्क पहनने के लिए प्रेरित किया गया। शिबिर में लगभग 370 मास्क का वितरण किया गया। वैक्सीन से जुड़ी भ्रांतियों के प्रश्नो का जवाब डॉ.  कमलेश इजारदार मेडिकल आफिसर प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र, कोहकामेटा ने दिया। 

इसे भी पढ़ें  अबूझमाड़ हस्तशिल्प महोत्सव-2021 का शुभारंभ

ग्रामीणों के बड़ी संख्या में शंका समाधान किये गये। डॉ. कमलेश इजारदार ने कहा कि जिनके एक डोज लग गयी है वे दूसरी डोज भी आवश्यक लगाएँ। इस अवसर पर सरपंच, मितानिन, प्राथमिक स्वस्थ्य केंद्र के कर्मचारी भी उपस्थित थे। महाविद्यालय के शिक्षको द्वारा ग्राम कोहकामेटा में 130 फलदार पौधो अमरुद, कटहल, मेहँदी, मुनगा, इमली, आम, पपीता का वितरण किया गया तथा ग्रामीणो के बाड़ी में पौध रोपण किया गया।

Read More