मेडिकल टीचर्स के साथ चलने का मौका मेरे जीवन का सबसे संतोषप्रद पल : टीएस सिंहदेव
मेडिकल टीचर्स के साथ चलने का मौका मेरे जीवन का सबसे संतोषप्रद पल : टीएस सिंहदेव
  • मेडिकल टीचर्स एसोसिएशन ने आयोजित किया चिकित्सक सम्मान समारोह
  • कोरोना काल में सेवा के लिये 13 डॉक्टरों को विशेष अवार्ड, 85 को प्रतीक चिन्ह व 560 जूनियर डॉक्टरों को दिए सर्टिफिकेट

पं. जवाहर लाल नेहरू स्मृति चिकित्सा महाविद्यालय के मेडिकल टीचर्स एसोसिएशन और जूनियर डॉक्टर्स एसोसिएशन के संयुक्त तत्वावधान में रविवार को महाविद्यालय परिसर के नवनिर्मित स्व. अटल बिहारी वाजपेयी सभागार में चिकित्सक सम्मान समारोह का आयोजन किया गया। इस सम्मान समारोह में महाविद्यालय के उन वरिष्ठ एवं कनिष्ठ चिकित्सकों का सम्मान किया गया जिन्होंने कोविड-19 वैश्विक महामारी की बेहद विषम परिस्थितियों में भी उत्साह, लगन और साहस के साथ अपने चिकित्सकीय कर्तव्यों का निर्वहन किया। सम्मान समारोह में 13 डॉक्टरों को कोरोना काल में उनके साहसिक एवं अभूतपूर्व योगदान के लिए विशेष सम्मान दिया गया वहीं 85 डाॅक्टरों को प्रतीक चिन्ह देकर तथा 560 सर्टिफिकेट जूनियर डॉक्टरों को प्रदान कर कोरोना काल में उनके निरंतर सेवाओं के प्रति आभार प्रकट किया गया।

इस कार्यक्रम के मुख्य अतिथि स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंहदेव थे। विशिष्ट अतिथि के रूप में वरिष्ठ विधायक सत्यनारायण शर्मा व विकास उपाध्याय, संचालक चिकित्सा शिक्षा डॉ. आर.के. सिंह, अधिष्ठाता डॉ. विष्णु दत्त और अस्पताल अधीक्षक डॉ. विनित जैन उपस्थित थे।

मेडिकल टीचर्स एसोसिएशन के अध्यक्ष तथा चिकित्सा महाविद्यालय में पैथोलॉजी विभागाध्यक्ष डॉ. अरविंद नेरल ने अपने अध्यक्षीय उद्बोधन में कोविड महामारी के पिछले 15 महीनों में महाविद्यालय के विभिन्न विभागों द्वारा किये गये प्रशंसनीय कार्यों का विवरण दिया। उन्होनें बताया कि इस अस्पताल को कोविड बनाने के लिये तीन विभागों को अन्य अस्पतालों में स्थानांतरित करना पड़ा फिर भी चिकित्सकों ने अबाध गति से मरीजों की सेवाएं जारी रखीं। कोरोना की पहली लहर में जब कड़े लाॅकडाउन और कर्फ्यू के दौरान प्रदेश का सबसे बड़ा अस्पताल निरंतर कोविड और नान कोविड मरीजों की सेवा करता रहा। यही वजह है कि उन सभी का आभार प्रकट करने के लिये मेडिकल टीचर्स एसोसिएशन द्वारा चिकित्सा महाविद्यालय रायपुर के इतिहास में पहली बार इतने व्यापक स्तर पर चिकित्सकों का सम्मान समारोह आयोजित किया गया।

महाविद्यालय के सभागार में सभी डॉक्टरों को संबोधित करते हुए कार्यक्रम के मुख्य अतिथि स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंहदेव ने कहा कि चिकित्सक सम्मान समारोह के जरिये मुझे अपनी बात कहने का मौका मिला है। मेडिकल टीचर्स एसोसिएशन रायपुर के तत्वावधान में सभी डाॅक्टर्स को जिन्हें हम भगवान का स्वरूप भी कहते हैं, उन्हें वो स्वरूप प्रदान करने वाले मेडिकल टीचर्स को सम्मानित करते हुए आभार भी व्यक्त करते हैं। निः संदेह भगवान से हम जीवन जोड़ लेते हैं लेकिन जब यमराज आते हैं तो वहां भी जीवनरक्षा का कोई जवाब नहीं मिलता और इस बीच अगर कोई जीवन देता है तो वो डाॅक्टर हैं। डाॅक्टर, वो हुनर भी है, वो जिम्मेदारी भी है, वो मान्यता भी है वो जवाबदेही भी है और उसका भाग्य भी है। शायद ही किसी मानव समूह को ऐसी दृष्टि और खूबियों से देख के नवाजा जाता है, समाज द्वारा। सभी मानव, धरती के इन देव स्वरूप मानवों की ऐसी भावनाओं से निःसंदेह प्रेरणा लेते होंगे। इस वृहद सम्मान समारोह में अवार्ड्स दिये, मान्यता दिये, पहचान दी और वो भी किसी को छोड़कर नहीं। हर व्यक्ति जो संगठन का सदस्य है, सबको आपने एक मान्यता दी। उसके लिए डाॅ. नेरल और सबको बहुत-बहुत बधाई। इस सम्मान समारोह के क्रम में पहले जिन डॉक्टरों ने अवार्ड प्राप्त किया उसमें से तीन डॉक्टरों ने मुझे भी कोरोना से बचाया। मैं उनका उन बाबत हमेशा ही आभारी रहूंगा। लेकिन साथ ही हम सदैव आभार व्यक्त करते रहेंगे कि किन चुनौतीपूर्ण एवं कठिन परिस्थितियों में आपने संभाला।

इसे भी पढ़ें  हाट-बाजारों में खरीदारी के साथ अब सेहत भी

Photo Gallery

श्री सिंहदेव ने कहा कि कोरोना के शुरूआती दिनों में जब परिस्थितियां जोखिम पूर्ण थीं उस समय परिस्थितियों को जानते हुए भी कोई बहुत बड़ा और जिम्मेदार समूह खड़ा था तो वह सरकारी अस्पतालों के डाॅक्टरों का था, मेडिकल काॅलेज के डाॅक्टरों का था। पीपीई किट्स नहीं थे, जिनकी अनिवार्यता बहुत ज्यादा थी और अन्य बीमारियों के लिए जो किट्स थे उनका प्रयोग करके शुरूआती दौर को झेल के जो आत्मविश्वास सिस्टम के प्रति बढ़ाया, लोगों के मन में बढ़ाया, मैं समझता हूं कि शासकीय अस्पतालों के प्रति लोगों की भावनाओं को मोड़ने में उस चुनौती के काल ने बहुत बड़ा काम किया। आप खड़े रहे बाकी कोई मैदान में खड़ा नहीं दिखता था। और आपको जो सबसे नजदीकी से परिस्थिति की खतरनाक संभावनाओं को समझते हुए अगर आप लोग खड़े रहे, वह बहुत बड़ी बात थी। मैं बार-बार ये उदाहरण देता हूं, मेरी मम्मी जिनके लिये जीवन के आखिरी तीन-चार सालों में बार-बार अस्पताल जाना पड़ता था।

अस्पताल के डाॅक्टरों ने मेरी मम्मी का जीवन काल तीन से चार साल बढ़ाया। आपको ये मालूम है संक्रमण की स्थिति वहीं (अस्पतालों में) सबसे ज्यादा है जहां आप काम करते हैं, वहां चौबीस घंटे आप रहते हैं, पेशेंट की भलाई के लिए अगर आप कहते हैं जितना जल्दी हो सके ठीक होने पर मरीज को घर ले जाओ। वहां मैं नहीं समझता की समाज सही मायने में इन बातों को समझता भी है और आप लोगों के योगदान का सहीं मूल्यांकन कर पाता है। डॉक्टरों ने समाज को जितना दिया, शायद ही समाज कभी उसका आकलन कर पाये।

कोविड के पहली लहर में बात आयी थी अलग-अलग जगह कोविड प्रबंधन को स्थापित करने की भी, उस समय अंततः यह निर्णय लेना पड़ा कि आप लोगों के कंधों पर जवाबदारी डाले बिना इस समस्या का हल नहीं निकल सकता और हुआ भी वही। आप लोगों ने जो सेवा उपलब्ध कराई, वह नहीं होता तो आज छत्तीसगढ़ में कोरोना प्रबंधन की सर्वत्र सराहना नहीं होती।

उस समय टेस्टिंग की बात आई, उसके साथ में जो विश्वसनीयता हासिल की वह अद्वितीय रहीं। आप लोगों ने जो देखभाल की, उसका यही प्रमाण है कि उन दिनों लोगों की पहली च्वाइस मेडिकल कॉलेज अस्पताल रही। आप लोगों के प्रमुख च्वाइस में थे। हम लोगों के पास फोन आते थे लोग अम्बेडकर अस्पताल जाना चाहते थे। यह मूल्यांकन का आधार था।

मेडिकल काॅलेज अस्पताल की मार्केट वेल्यू बनाने में आप लोगों ने सशक्त योगदान किया, बहुत मदद की छत्तीसगढ़ शासन की, उसका आभार। बहुत सारी चुनौतियां उनके रहते हुए भी आप कभी काम करने में पीछे नहीं हटे। आने वाले समय में जैसी भी परिस्थितियां बने, जितनी भी व्यवस्थाएं आधुनिक से आधुनिक बन सके, उन सभी के लिये प्रयास करेंगे। आज कई ऐसे उपकरण हैं जो आधुनिक से आधुनिक हैं। व्यवस्था को और सुदृढ़ करके उच्चतम कोटि की नागरिक सेवाएं सुलभ हो सकें, इन जिम्मेदारियों को निभाउंगा।

मुझे बहुत खुशी होती है कि आप लोगों के साथ चलने का मौका मिला। यह मेरे जीवन के सबसे संतोषप्रद पलों का वो सफर रहा है जिन्हें मैं कभी नहीं भूल पाउंगा। आप लोग मेडिकल टीचर्स है, मुझे भी आपने बहुत कुछ सिखाया है। आप लोगों के साथ-साथ जानते रहेंगे, समझते रहेंगे, उसी भावना से आपको देखते रहेंगे जैसे लोग आपको ईश्वर तुल्य सम्मान की दृष्टि से देखते हैं।

इसे भी पढ़ें  कोरिया : पूजा महिला स्वयं सहायता समूह की भगवंती को बिहान आजीविका के तहत शूकर पालन से प्रतिवर्ष हो रही 90 हजार से 1 लाख रू की आमदनी

विधायक विकास उपाध्याय ने अपने उद्बोधन में कहा कि कोविड-19 की भयावह स्थिति में जब बड़े-बड़े देषों ने घुटने टेक दिए तब हमारे सरकारी अस्पतालों में इतने जागरूक लोग थे जिन्होंने इतनी त्रासदीपूर्ण महामारी में अपनी परवाह नहीं की अपने परिवार की भी परवाह नहीं की। डाॅक्टर अपने आप में भगवान के रूप में इस धरती पर है। जब आदमी को लगता है कि मैं नहीं बच पाउंगा तो पहले भगवान के पास जाता है और डाॅक्टर के पास जाता है। मैंने तो सैकड़ों उदाहरण देखे हैं। यहां पर बहुत सारे डाॅक्टर हैं जिन्होंने ऐसी परिस्थिति में मदद करने का काम किया है जब लोगों ने घुटने टेक दिया। आपके विभाग को धन्यवाद देता हूं जिन्होंने इस पवित्र कार्यक्रम का हिस्सा बनने का मौका दिया। आप लोगों की पूरी दुनिया को कितनी जरूरत है वह कोविड महामारी ने लोगों को समझा दिया। पुनः आप सभी को बहुत-बहुत बधाई देता हूं।

कार्यक्रम का संचालन करते हुए मेडिकल टीचर्स एसोसिएशन की सचिव डाॅ. जया लालवानी ने कहा कि मेकाहारा की मार्केट वेल्यू बढ़ी है, माननीय स्वास्थ्य मंत्री महोदय ने हमें आज यह अहसास दिलाया है, अपने संस्थान के लिए हम और मेहनत करेंगे और आपके मापदंड पर खरे उतरने की कोशिश करेंगे। हमारे विशिष्ट अतिथि हमारे स्वास्थ्य मंत्री ने एक कैप्टन की तरह सब तूफानों के बीच से वो हमारी कश्ती निकाल कर लाए हैं।

इस आयोजन में चिकित्सा महाविद्यालय एवं उससे संबद्ध अम्बेडकर अस्पताल के कार्डियोलॉजी, रेस्पिरेटरी मेडिसिन, मनोरोग, निश्चेतना, कैंसर, रेडियोलॉजी, नेत्र रोग, मेडिसिन, कान-नाक-गला, त्वचा रोग, अस्थि रोग, पैथोलॉजी, बायोकेमिस्ट्री, एनाटाॅमी, कम्युनिटी मेडिसिन, प्रीवेंटिव सोशल मेडिसिन तथा अन्य विभाग के सभी डॉक्टरों को उनके सेवा के सम्मान के तौर पर प्रशस्ति प्रदान किया जिसे संबंधित विभाग के विभागाध्यक्षों ने ग्रहण किया। आयोजन में एसोसिएशन के डाॅ. जया लालवानी, डॉ. ओंकार खंडवाल, डॉ. देवप्रिया लकरा, डॉ. निर्मल वर्मा, डॉ. आर.एल. खरे, डॉ. देबाप्रिय रथ, डॉ. दिवाकर धुरंधर और अन्य सदस्यों का सक्रिय योगदान रहा। सभी वरिष्ठ एवं कनिष्ठ चिकित्सकों को सम्मानित कर प्रषस्ति पत्र प्रदान किया गया। डॉक्टर्स डे के उपलक्ष्य में वृहद स्तर पर आयोजित ब्लड डोनेशन कैम्प के सफल आयोजन के लिए जूनियर डॉक्टर एसोसिएशन को प्रशस्ति पत्र प्रदान किया गया। विदित हो कि ब्लड डोनेशन कैम्प में 163 से भी अधिक चिकित्सक एवं चिकित्सा छात्रों ने रक्तदान किया था। डॉक्टर्स डे पर आयोजित रंगोली एवं पोस्टर प्रतियोगिता के विजेताओं को भी पुरस्कृत कार्यक्रम के दौरान पुरस्कृत किया गया। कार्यक्रम के अंत में डॉ. ओंकार खंडवाल ने आभार प्रकट किया।

इन्हें मिला विशेष सम्मान

कोरोना काल में उत्कृष्ट सेवाओं के लिए डाॅ. ओ. पी. सुंदरानी, डाॅ. आर. के. पंडा, डाॅ. संदीप चंद्राकर, डाॅ. संतोष सिंह पटेल, डाॅ. डी. पी. लकरा, डाॅ. ओंकार खंडवाल, डाॅ. राबिया परवीन सिद्दीकी, डाॅ. निकिता शेरवानी, डाॅ. निर्मल वर्मा, डॉ. कमलेश जैन, डाॅ. स्निग्धा जैन तथा डॉ. देबाप्रिय रथ को सम्मान मिला।

इसे भी पढ़ें  शिशु संरक्षण माह 24 अगस्त से

T .S SINGH DEO NEWS

पंचायत मंत्री श्री टी.एस.सिंहदेव ने स्वच्छता जागरूकता रथ को हरी झण्डी दिखाकर किया रवाना 

पंचायत एवं ग्रामीण विकास मंत्री श्री टी.एस. सिंहदेव ने आज अपने निवास कार्यालय से स्वच्छ भारत मिशन (ग्रामीण) के तहत् स्वच्छता एवं शौचालय के उपयोग के लिए लोगों को जागरूक करने 31 स्वच्छता जागरूकता रथ को हरी झण्डी दिखाकर रवाना किया। 28 रथ प्रदेश के सभी 28 जिलों के सभी गांवों मे तथा राज्य स्तर…

100% वैक्सिनेशन के लिए ‘मोर जिम्मेदारी’ अभियान सराहनीय पहल: सिंहदेव

स्वास्थ्य मंत्री ने राज्य के 20 जिलों के दुर्गम 600 गांवों के लिए वैक्सिनेशन जागरूकता रथ को हरी झंडी दिखाकर किया रवाना स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री श्री टी.एस. सिंहदेव ने आज यहां अपने निवास कार्यालय से यूनिसेफ और एकता परिषद् सहित अन्य स्वयंसेवी संस्थाओं के सहयोग से चलने वाले जागरूकता अभियान ‘मोर जिम्मेदारी’ का…

सिकलसेल स्क्रीनिंग के लिए सभी जिलों में बनाया जाए यूनिट: श्री T S सिंहदेव

सिकलसेल के इलाज हेतु आईपीडी एवं अनुसंधान स्तर की व्यवस्था करने के निर्देश स्वास्थ्य मंत्री ने की सिकलसेल इंस्टीट्यूट संचालक मंडल की समीक्षा स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री श्री टी.एस. सिंहदेव ने कहा कि प्रदेश में सिकलसेल की पहचान एवं रोकथाम के लिए स्क्रीनिंग करना आवश्यक है। इसके लिए प्रदेश के सभी जिलों में सिकलसेल…

गौठानों में मल्टी एक्टीविटी व्यवसायों से जोड़ कर महिलाओं को सशक्त: T S सिंहदेव

मनरेगा से मजदूरों के लिए ज्यादा से ज्यादा मानव दिवस कार्य सृजित करने के निर्देश अपूर्ण कार्यों को समय-सीमा में गुणवत्ता के साथ किया जाए पूर्ण पंचायत एवं ग्रामीण विकास मंत्री ने विभागीय काम-काज की समीक्षा की पंचायत एवं ग्रामीण विकास मंत्री श्री टी.एस. सिंहदेव ने कहा कि महात्मा गांधी नरेगा के तहत राज्य सरकार…

रोजगार सहायकों को कोविड अनुकूल व्यवहार के बारे में दिया जाएगा प्रशिक्षण

महात्मा गांधी राष्ट्रीय ग्रामीण रोजगार गारंटी अधिनियम (मनरेगा) में कार्यस्थलों पर कोविड अनुकूल व्यवहार सुनिश्चित करने के लिए जिलें के रोजगार सहायकों को प्रशिक्षण दिया जाएगा। पंचायत एवं ग्रामीण विकास मंत्री श्री टी.एस. सिंहदेव के निर्देश पर राज्य मनरेगा कार्यालय द्वारा जिलें के 403 रोजगार सहायकों को ऑनलाइन प्रशिक्षण देने की कार्ययोजना तैयार की गई…

वाणिज्य कर मंत्री श्री टीएस सिंहदेव ने किया अंबिकापुर जीएसटी कार्यालय का उद्घाटन

वाणिज्य कर मंत्री श्री टीएस सिंहदेव ने किया जीएसटी कार्यालय का उद्घाटनकार्यालय परिसर में हरियाली बढ़ाने गार्डन विकसित करें- श्री सिंहदेव छत्तीसगढ़ शासन के पंचायत एवं ग्रामीण विकास ताथा वाणिज्यिक कर (जीएसटी) मंत्री श्री टीएस सिंहदेव ने रविवार को सरगवां में नवनिर्मित  सहायक आयुक्त कार्यालय राज्य कर (जीएसटी) भवन का फीता काटकर उद्घाटन किया। जीएसटी…

न्यूज़ अपडेट

न्यूज़ अपडेट

IPL Schedule 2022 Announced

The schedule for the Indian Premier League 2022 (IPL 2022) season has been announced, with Chennai Super Kings set to face Kolkata Knight Riders in the opener at the Wankhede Stadium in Mumbai on March 26. The BCCI announced the full scheduled in a press release on Sunday. “The Board of Control for Cricket in India…

रेडी टू ईट निर्माण

रायपुर। छत्तीसगढ़ में रेडी टू ईट पोषण आहार निर्माण और वितरण व्यवस्था के संबंध में वर्तमान में जारी व्यवस्था मार्च 2022 तक लागू रहेगी। राज्य सरकार द्वारा इस संबंध में जारी की गई नई पॉलिसी का क्रियान्वयन एक फरवरी 2022 से होना था, इसेे अब एक अप्रैल 2022 तक के लिए बढ़ा दिया गया है।…

कोदो, कुटकी और रागी की खरीदी अब 15 फरवरी तक

रायपुर। छत्तीसगढ़ में समर्थन मूल्य पर कोदो, कुटकी और रागी फसलों की खरीदी के लिए समयावधि अब 15 फरवरी 2022 तक बढ़ा दी गई है। इसके पहले इन फसलों की खरीदी के लिए 31 जनवरी तक की तिथि निर्धारित थी। गौरतलब है कि राज्य के विभिन्न क्षेत्रों में वर्षा होने के कारण मिंजाई में हुई…

मानवीय हस्तक्षेप मुक्त होगी नल कनेक्शन प्रक्रिया

रायपुर। गढ़बो नवा छत्तीसगढ़ की थीम पर काम करते हुए छत्तीसगढ़ शासन नागरिकों की सुविधाओं का लगातार विस्तार कर रही है। आनलाइन सेवाओं की वजह से नागरिकों के काम घर बैठे हो रहे हैं। इसी कड़ी में अब नल कनेक्शन के लिए भी नागरिकों को नगरीय निकाय कार्यालयों के चक्कर नहीं काटने होंगे। आम नागरिकों…

इसे भी पढ़ें  कोरिया : पूजा महिला स्वयं सहायता समूह की भगवंती को बिहान आजीविका के तहत शूकर पालन से प्रतिवर्ष हो रही 90 हजार से 1 लाख रू की आमदनी

मुख्यमंत्री स्लम स्वास्थ्य योजना 21 फरवरी तक सभी शहरों में

रायपुर। मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल ने इस गणतंत्र दिवस पर राज्य के सभी शहरों की स्लम बस्तियों में रहने वालों को एक बड़ी सौगात दी है। अब यहां के रहवासियों को इलाज के लिए अस्पताल जाने या खून की जांच और अन्य स्वास्थ्य परीक्षण के लिए इधर-उधर नहीं भटकना पड़ेगा। अब उनके इलाके में मोबाइल…

अवैध रेत उत्खनन के विरूद्ध सख्त कार्रवाई के निर्देश

रायपुर । मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल ने अवैध रेत उत्खनन करने वालों के विरुद्ध सख्त कार्रवाई करने के निर्देश दिए हैं। मुख्यमंत्री ने कलेक्टर और एसपी को निर्देश दिए हैं कि किसी भी जिले में अवैध रेत उत्खनन नहीं होना चाहिए। किसी भी जिले से अवैध रेत उत्खनन की शिकायत मिलने पर कलेक्टर और एसपी…

पीएमडी सीजी म्युजिक ने रि-लांच किया अपना चैनल….

पीएमडी सीजी म्युजिक ने दिलीप षडंगी के स्वर में दौना के पान के साथ अपना चैनल रि-लांच किया। आपको बता दें कि पीएमडी सीजी म्युजिक समय समय पर छत्तीसगढ़ी गाने लेकर आते रहा है। पीएमडी सीजी म्युजिक ने एक बार फिर दिलीप षडंगी की आवाज में दौना के पान के साथ अपना चैनल रि-लांच किया…

प्रभारी मंत्री ने किया कला केंद्र भवन का लोकार्पण

सूरजपुर। जिला प्रवास में प्रभारी मंत्री श्री शिव कुमार डहरिया ने आज नगर के वार्ड क्रमांक 16 में बने कला केंद्र भवन का फीता काटकर लोकार्पण किया। तत्पश्चात् माँ सरस्वती की छायात्रित पर पुष्पअर्पित कर दीप प्रज्जवलित किया गया।डा. शिव कुमार डहरिया ने कला केन्द्र के विभिन्न कक्षो का निरक्षण किया, जिसमें गायन कक्ष, नृत्य…

इसे भी पढ़ें  चिकित्सा शिक्षा मंत्री श्री सिंहदेव की नाराजगी के बाद स्वास्थ्य विज्ञान एवं आयुष विश्वविद्यालय ने नर्सिंग परीक्षाओं की तिथि घोषित की

​​​​​​​मंत्री श्री भगत ने ‘बुटेका एनीकट’ और ‘मारागांव तटबंध’ का किया निरीक्षण

रायपुर। खाद्य मंत्री एवं गरियाबंद जिले के प्रभारी मंत्री श्री अमरजीत भगत ने ग्राम बेंदकुरा के समीप सोंढूर नदी पर बने बुटेका एनीकट का आकस्मिक निरीक्षण किया। मंत्री श्री भगत 26 जनवरी को जिला मुख्यालय में गणतंत्र दिवस के अवसर पर ध्वजारोहण के पश्चात एनीकट का अवलोकन करने पहुंचे थे। आसपास के ग्रामीणों ने इसके…

उद्योग मंत्री कवासी लखमा ने दिव्यांग को बैटरी चलित ई-ट्राईसायकल प्रदान की

रायपुर। वाणिज्य एवं उद्योग मंत्री और दंतेवाड़ा जिले के प्रभारी मंत्री श्री कवासी लखमा ने बचेली स्थित रेस्ट हाउस परिसर में दिव्यांग श्री राम प्रसाद साहू को बैटरी चलित ई-ट्राईसायकल प्रदान किया। श्री राम प्रसाद साहू बचेली के वार्ड क्रमांक 5 के निवासी है, इससे पहले उन्हें सामान्य ट्राईसायकल उपलब्ध करायी गयी थी। बैटरी चलित…

कथित फर्जी डायरी कांड का 48 घंटे के भीतर पटाक्षेप

रायपुर। स्कूल शिक्षा विभाग के कथित फर्जी डायरी कांड का 48 घंटे के भीतर खुलासा करने पर रायपुर पुलिस का सम्मान किया गया है। स्कूल शिक्षा मंत्री डॉ. प्रेमसाय सिंह टेकाम ने रायपुर पुलिस के एसपी सहित पूरी टीम की सराहना की है। मंत्री डॉ. टेकाम ने आज सिविल लाईन स्थित पुलिस कंट्रोल रूम पहुंचकर…

इसे भी पढ़ें  मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल ने अंतर्राष्ट्रीय धूम्रपान निषेध दिवस के अवसर पर आज यहां अपने निवास कार्यालय से वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए वर्चुअल योगाभ्यास

राज्यपाल को नीट काउंसिलिंग संबंधी अनियमितता के संबंध में ज्ञापन दिया गया

रायपुर। राज्यपाल सुश्री अनुसुईया उइके से डॉ. कुलदीप सोलंकी ने भेंट कर राज्य में नीट परीक्षा की काउंसिलिंग की प्रक्रिया में नियमों की अनदेखी किए जाने के संबंध में ज्ञापन सौंपा। उन्होंने कहा कि राज्य में अभी तक इसका रजिस्ट्रेशन शुरू नहीं किया गया है। यहां राज्य की मेरिट लिस्ट जारी किए बिना ही च्वाइस…

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *