cg-education-board
cg-education-board

कोविड से बचाव के लिए सरकार के निर्णय पर विद्यार्थियों ने जताई सहमति

कोरबा 02 जून 2021

छत्तीसगढ़ माध्यमिक शिक्षा मण्डल द्वारा इस वर्ष कक्षा बारहवीं की परीक्षाओं के लिए प्रक्रिया 01 जूनसे शुरू कर दी गई। कोविड संक्रमण के कारण लिए गए निर्णय पर अमल करते हुए आज कोरबा जिले में कोविड प्रोटोकाॅल का पालन करते हुए बारहवीं कक्षा के सभी विद्यार्थियों को अपने-अपने परीक्षा केन्द्रों में प्रश्न पत्र एवं उत्तर पुस्तिकाएं बांटी गईं। इस दौरान विद्यार्थियों का तापमान लिया गया और परीक्षा केन्द्रों में हैण्ड सेनेटाइजेशन की भी व्यवस्था की गई। बारहवीं कक्षा की परीक्षाओं के लिए जिले में 152 परीक्षा केन्द्र बनाए गए हैं।

इन केन्द्रों से आज 12 हजार 878 परीक्षार्थियों को प्रश्न पत्र और उत्तर पुस्तिकाओं का वितरण किया गया। गौरतलब है कि कोरोना महामारी के कारण छत्तीसगढ़ माध्यमिक शिक्षा मण्डल इस वर्ष परीक्षा केन्द्रों में बैठाकर विद्यार्थियों से उत्तर लिखाने की प्रणाली वाली परीक्षा आयोजित नहीं कर सका है। परीक्षार्थियों की सुरक्षा के लिए इस वर्ष विद्यार्थियों को प्रश्न पत्र एवं उत्तर पुस्तिकाएं पहले से दे दी गई हैं। अब उन्हें निर्धारित समयावधि में प्रश्नों के उत्तर लिखकर उत्तर पुस्तिकाएं वापस परीक्षा केन्द्रों में जमा करना होगा।

जिला शिक्षा अधिकारी श्री सतीश पाण्डेय ने बताया कि कोरबा जिले में आज बारहवीं कक्षा के विद्यार्थियों को परीक्षाओं के लिए प्रश्न पत्र एवं उत्तर पुस्तिकाओं का वितरण कर दिया गया है। परीक्षार्थी प्रश्नों के उत्तर लिखी पुस्तिकाएं छह जून से दस जून के बीच निर्धारित परीक्षा केन्द्र में जमा कर सकेंगे।

जिला शिक्षा अधिकारी ने बताया कि इस दौरान किसी परीक्षार्थी के कोविड संक्रमित होने की दशा में संक्रमित परीक्षार्थी किसी अन्य व्यक्ति को अपनी परीक्षा संबंधी जानकारी और कोरोना पाॅजिटिव रिपोर्ट के साथ प्रश्न पत्र और उत्तर पुस्तिकाएं जमा करने के लिए अधिकृत कर सकेगा। अधिकृत किए गए व्यक्ति परीक्षार्थी के पूरे विवरण, पाॅजिटिव रिपोर्ट एवं आधार कार्ड की छायाप्रति के साथ प्रश्न पत्र एवं लिखी उत्तर पुस्तिकाएं जमा कर सकेंगे।

इसे भी पढ़ें  राजनांदगांव : वैक्सीनेशन हर वर्ग के लिए बेहद जरूरी, खिलाडिय़ों को टीकाकरण के लिए आगे आना चाहिए : अंतर्राष्ट्रीय हॉकी खिलाड़ी मृणाल चौबे


कोविड से बचाव के लिए शासन के निर्णय से सहमत हुए विद्यार्थी – परीक्षा केन्द्रों पर प्रश्न पत्र और उत्तर पुस्तिकाएं लेने पहुंचे विद्यार्थी कोविड संक्रमण से बचाव को लेकर शासन द्वारा की गई नई व्यवस्था से सहमत दिखे। परीक्षा केन्द्रों पर पहुंची छात्रा दीक्षा साहू ने बताया कि कोरोना महामारी की वजह से इस साल घर पर रहकर आॅनलाइन क्लासेस के माध्यम से ही पढ़ाई हुई है। वीडियो नेटवर्किंग और वीडियो काॅन्फ्रेंसिंग सुविधा से ही शिक्षकों ने पढ़ाया है। इससे सभी विद्यार्थी कोरोना संक्रमण से बचे रहे हैं।

परीक्षा केन्द्रों में आकर परीक्षा देने से भीड़-भाड़ बढ़ने और बहुत से लोगों से मिलने-जुलने से कोविड संक्रमण की संभावना बढ़ जाती। राज्य सरकार ने विद्यार्थियों को कोविड संक्रमण से बचाने के लिए घर से ही परीक्षा देने की व्यवस्था कर राहत पहुंचाई है। प्रश्न पत्र और उत्तर पुस्तिकाएं लेकर घर पर ही उत्तर लिखेंगे और दस जून के पहले एक बार परीक्षा केन्द्र आकर जमा कर देंगे। परीक्षार्थी अंजलि साहू ने बताया कि इस बार परीक्षा होगी भी की नहीं यह असमंजस की स्थिति सभी विद्यार्थियों में थी।

बारहवीं की परीक्षा किसी भी विद्यार्थी के लिए बहुत महत्वपूर्ण होती है। ऐसी स्थिति में कोरोना संक्रमण का डर भी हमारे साथ-साथ हमारे पालकों को भी था। राज्य सरकार ने घर से उत्तर लिखकर काॅपी परीक्षा केन्द्र में जमा करने की सुविधा देकर विद्यार्थियों की काफी मदद की है। इससे हम जैसे सभी छात्र-छात्राओं को मानसिक रूप से भी संबल मिलेगा कि हमने प्रश्नों के उत्तर लिखकर परीक्षा पास की है।

क्रमांक 263/नागेश/रात्रे

इसे भी पढ़ें  प्रधान आरक्षक की सड़क दुर्घटना में मौत

Source: http://dprcg.gov.in/