बालोद। कलेक्टर श्री जनमेजय महोबे ने कहा कि गौठानों में गोधन न्याय योजना के तहत् खरीदे गए गोबर से अब तक उत्पादित वर्मी कम्पोस्ट का शतप्रतिशत विक्रय इस माह के अंत तक सुनिश्चित करें। वर्मी कम्पोस्ट फसलों के लिए उपयोगी है, इसके उपयोग के लिए किसानों को प्रेरित करें। श्री महोबे आज संयुक्त जिला कार्यालय के सभाकक्ष में बालोद विकासखण्ड के सक्रिय गौठानों के मैदानी अधिकारियों की आयोजित बैठक में निर्देशित कर रहे थे। कलेक्टर ने बालोद विकासखण्ड के सक्रिय गौठानवार अब तक वर्मी कम्पोस्ट का उत्पादन और विक्रय की प्रगति की गहन समीक्षा की। उन्होंने जिन गौठानों में वर्मी कम्पोस्ट का उत्पादन और विक्रय की प्रगति अच्छी है, वहॉ के प्रभारी अधिकारियों को शाबाशी दी और जिन गौठानों में वर्मी कम्पोस्ट का उत्पादन व विक्रय की प्रगति संतोषप्रद नहीं है, वहॉ के प्रभारी अधिकारियों को जिम्मेदारीपूर्वक कार्य करने की समझाईश दी। कलेक्टर ने कहा कि किसी गौठान में वर्मी कम्पोस्ट के उत्पादन व विक्रय आदि में समस्याएॅ हो, वहॉ कृषि विभाग के संबंधित सहायक संचालक, जनपद पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी और संबंधित सहकारी समिति के अधिकारी निराकरण करें।
कलेक्टर ने कहा कि गोधन न्याय योजना शासन की महत्वाकंाक्षी योजना है। योजना के तहत् क्रय किए गए गोबर से वर्मी कम्पोस्ट का उत्पादन, पैकेजिंग और विक्रय का कार्य जिम्मेदारीपूर्वक करें। कलेक्टर ने बालोद विकासखण्ड के पॉचो मॉडल गौठानों में संचालित विभिन्न आजीविका संवर्धन संबंधी गतिविधियॉ डेयरी, मुर्गीपालन, मछलीपालन, गन्ना उत्पादन, साबुन, वाशिंग पावडर, अगरबत्ती निर्माण आदि की जानकारी ली। उन्होंने कहा कि गौठानों में आजीविका संवर्धन संबंधी गतिविधियॉ सतत् रूप से संचालित रहे। इससे स्वसहायता समूह अतिरिक्त आमदनी अर्जित कर आर्थिक रूप से सशक्त होंगी। उन्होंने बकरीपालन हेतु भी समूहों को प्रेरित करने के निर्देश दिए। कलेक्टर ने गौठानों में पशुओं के उपचार हेतु आयोजित शिविर तथा चारागाह में चारा उत्पादन की प्रगति की जानकारी ली।
कलेक्टर ने राजीव गॉधी किसान न्याय योजना के अंतर्गत जिले में धान के बदले अन्य फसल का रकबा बढ़ाने लक्ष्य के विरूद्ध उपलब्धि की जानकारी ली और किसानों को योजना के लाभ से अवगत कराने तथा उन्हें धान के बदले अन्य फसल लेने हेतु प्रोत्साहित करने के निर्देश दिए। उन्होंने जिले में प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना अंतर्गत किसान पंजीयन की प्रगति की जानकारी ली। बैठक में जिला पंचायत की मुख्य कार्यपालन अधिकारी डॉ. रेणुका श्रीवास्तव, अतिरिक्त मुख्य कार्यपालन अधिकारी श्री हेमंत ठाकुर, डिप्टी कलेक्टर एवं जनपद पंचायत बालोद के प्रभारी मुख्य कार्यपालन अधिकारी श्री सुब्रत प्रधान सहित कृषि, उद्यानिकी, पशु चिकित्सा विभाग के अधिकारी, संबंधित गौठानों के प्रभारी नोडल अधिकारी, पंचायत सचिव और सहकारी समिति के प्रबंधक आदि उपस्थित थे।

इसे भी पढ़ें  9 दिन पहले तड़पते मिले हाथी के बच्चे ने खेत में तोड़ा दम

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *