दंतेवाड़ा : मिनीराईस मिल मिलने से कुम्माराम की बदली आर्थिक एवं सामाजिक स्थिति
दंतेवाड़ा : मिनीराईस मिल मिलने से कुम्माराम की बदली आर्थिक एवं सामाजिक स्थिति

दंतेवाड़ा । कटेकल्याण का कुम्माराम मिनीराईस मिल मिलने से बहुत खुश है। उसका कहना है कि पहले हम लोग धान की कुटाई लकड़ी के मूसर से करते थे, जिससे हमें अधिक मेहनत व समय लगता था।

हमारी परेशानी को देखते हुए कृषि विभाग ने डीएमएफ जिला खनिज संस्थान न्यास निधि योजनान्तर्गत मिनीराईस मिल प्रदान किया। जिससे मैं अपने स्वयं का धान कुटाई करता हूं, जिससे समय और मेहनत कम लगता है। मैं गांव के अन्य किसानों के धान की भी कुटाई करता हूं।

जिससे मुझे प्रतिदिन लगभग 6 सौ रूपये कुटाई के दर से एक माह में लगभग 18 हजार रूपये कुटाई से व भूसे से लगभग 7 हजार रूपये की अतिरिक्त आमदनी हो रही है। इस प्रकार मुझे लगभग 25 हजार रूपये की मासिक आमदनी प्राप्त हो रही है, जिससे मैं और मेरा परिवार बहुत खुश हैं तथा हमारी आर्थिक स्थिति में सुधार हो रहा है।

मेरा परिवार जिला प्रशासन व कृषि विभाग को बहुत धन्यवाद देता हूं। मैं भविष्य में शासन से मिलने वालों योजनाओं का और लाभ लेने के लिए तैयार हूं।

न्यूज़ अपडेट