कोविड नियंत्रण कक्ष - covid -control-center
कोविड नियंत्रण कक्ष - covid -control-center
  • हॉटस्पॉट का चिन्हांकन आयुक्त और मुख्य नगरपालिका अधिकारियों को करने के निर्देश
  • व्यापरियों की बैठक ले कोविड एप्रोप्रियेट बिहेवीयर का कड़ाई से पालन पर ज़ोर

धमतरी 02 जून 2021

कलेक्टर श्री जय प्रकाश मौर्य ने ऐसे सभी अधिकारी, जिन्हें लॉकडाउन अवधि में बतौर नोडल अधिकारी ज़िम्मेदारी सौंपी गई थी, उन्हें बधाई दी, उन्होंने दायित्व का निर्वहन बखूबी किया और ग्रामीण स्तर पर आईईसी के जरिए लोगों को कोरोना संक्रमण से बचाव, टीकाकरण की महत्ता इत्यादि के लिए जागरूक किया। उन्होंने कहा कि कोरोना संक्रमण का खतरा अभी पूरी तरह से टला नहीं है। अतः आगे भी लोगों को जागरूक रहने की जरूरत है। इसके लिए कोविड एप्रोप्रियेट बेहवीयर को अपनाने, सोशल डिस्टेंसिंग बनाने और मास्क पहनने पर कलेक्टर ने ज़ोर दिया है। उन्होंने आज सुबह 11 बजे से कलेक्टोरेट सभाकक्ष में समय सीमा की बैठक लेते हुए जिला स्तरीय अधिकारियों को सख्त हिदायत दी।

    कलेक्टर ने बैठक में ऐसे सभी अधिकारी जिन्हें कोरोना का टीका लग चुका है, उन्हें एन्टीबॉडी टेस्ट कराने कहा, जिससे वे भविष्य के लिए सतर्क रहें। उन्होंने मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ.डी.के.तुर्रे को इसके लिए व्यवस्था करने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने ग्राम पंचायत स्तर पर कोविड नियंत्रण कक्ष को आगामी अगस्त माह तक क्रियाशील रखने पर बल दिया है, जिससे ग्रामीण क्षेत्र में संदेहात्मक और लक्षणात्मक लोगों का कोविड टेस्ट समय पर हो सके और लोगों को कोविड का टीका लगाने के लिए भी प्रेरित करने में सुविधा हो। उन्होंने कोविड मरीजों के लिए होम आइसोलेशन के नियमों का कड़ाई से पालन सुनिश्चित कराने तथा टीकाकरण ड्राइव को पूरी गंभीरता से चलाने सभी अनुविभागीय अधिकारी राजस्व, मुख्य कार्यपालन अधिकारी जनपद पंचायत को निर्देशित किया है। कलेक्टर ने सीजी टीका पोर्टल में 18-44 साल के लोगों के पंजीयन के लिए किये गए कार्यों को भी सराहा। उन्होंने सभी नगरीय क्षेत्रों में कोरोना हॉटस्पॉट क्षेत्र का चिन्हांकन करने के निर्देश आयुक्त और मुख्य नगरपालिका अधिकारियों को दिए हैं। साथ ही वहां एक वक्त पर अधिकतम पांच लोग का प्रवेश, कोविड एप्रोप्रियेट बिहेवियर अपनाने के लिए व्यापारियों की बैठक लेकर समझाइश देने पर ज़ोर दिया है।

इसे भी पढ़ें  कलेक्टर ने स्वामी आत्मानंद उत्कृष्ट अंग्रेजी माध्यम स्कूल बठेना का किया औचक निरीक्षण

बैठक में कलेक्टर ने निर्देशित किया कि अब राजस्व न्यायालय नियमित तौर पर शुरू किए जाएं। राजीव गांधी किसान न्याय योजना के तहत प्रदेश सरकार द्वारा फसल चक्र परिवर्तन को प्रोत्साहित करने खरीफ सीजन में धान के बदले अन्य फसल जैसे सुगंधित धान, फोर्टिफाईड (जिंक, प्रोटिन) धान, अन्य लघु धान्य फसलें जैसे कोदो, कुटकी, रागी, दलहन, तिलहन लगाने पर दस हजार रुपये प्रति एकड़ का अनुदान सहायता मिलेगा। कलेक्टर ने किसानों के बीच इसका व्यापक प्रचार प्रसार करने के निर्देश उप संचालक कृषि को दिए हैं। कलेक्टर ने कहा कि आगामी सोमवार को राजीव गांधी किसान न्याय योजना और गोधन न्याय योजना की प्रगति की समीक्षा वी.सी. के ज़रिये की जाएगी। उन्होंने सम्बन्धित अधिकारियों को उक्त वी.सी. में उपस्थित रहने के निर्देश दिए हैं।

कलेक्टर ने बैठक में कस्टम मिलिंग की प्रगति की समीक्षा करते हुए खाद्य अधिकारी को निर्देशित किया है कि जिन 37 मिलर्स ने धीमी गति से मिलिंग की है, उन्हें जल्द से जल्द मिलिंग करने निर्देशित किया जाए, अन्यथा आवश्यक कार्रवाई करने कहा है। बैठक में कलेक्टर ने इंग्लिश मीडियम स्कूल के लिए आवश्यक मांग की जानकारी ज़िला शिक्षा अधिकारी से ली। इस मौके पर मुख्य कार्यपालन अधिकारी ज़िला पंचायत श्री मयंक चतुर्वेदी, अपर कलेक्टर श्री दिलीप अग्रवाल सहित अन्य अधिकारी और वी.सी. के ज़रिए सभी अनुविभागीय अधिकारी राजस्व, मुख्य कार्यपालन अधिकारी जनपद पंचायत और अन्य ब्लॉक स्तरीय अधिकारी जुड़े रहे।

क्रमांक-04/208/इस्मत

Source: http://dprcg.gov.in/