धमतरी मुख्यमंत्री के चेहरे पर मुस्कान बिखेर गया बच्चियों से बात करना जब बच्चियों ने बठेना में स्वामी आत्मानंद इंग्लिश मीडियम स्कूल खोलने के लिए मुख्यमंत्री का जताया आभार
धमतरी मुख्यमंत्री के चेहरे पर मुस्कान बिखेर गया बच्चियों से बात करना जब बच्चियों ने बठेना में स्वामी आत्मानंद इंग्लिश मीडियम स्कूल खोलने के लिए मुख्यमंत्री का जताया आभार

धमतरी, 11 जून 2021

शासकीय स्कूल में इंग्लिश मीडियम में पढ़ाई !!! जब यह बात कुमारी प्रियांशी मिश्रा, कुमारी नेंसी मिश्रा जैसे विद्यार्थियों को पता चला तो उन्हें बेहद आश्चर्य हुआ। फिर एडमिशन के लिए दिए आवेदन के आधार पर बठेना के स्वामी आत्मानंद इंग्लिश मीडियम स्कूल में उनका चयन हो गया और इससे बड़ी खुशी की बात कि आज प्रदेश के मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल से सीधे ऑनलाइन माध्यम से बात करने का मौका मिलना। दरअसल आज कक्षा 9 वीं की नेंसी और कक्षा 11वीं की प्रियांशी मिश्रा को जिले के 270 विकास कार्यों के वर्चुअल लोकार्पण और भूमिपूजन कार्यक्रम के दौरान मुख्यमंत्री श्री बघेल से ऑनलाइन बात करने का मौका मिला।

दोनों बच्चियां इस बात को लेकर काफी उत्साहित और गौरवान्वित महसूस कर रही थीं, कि उन्हें अपने मुख्यमंत्री से बात करने का मौका मिल रहा है। इन दोनों बच्चियों ने मुख्यमंत्री का अभिवादन करने के बाद बठेना में स्वामी आत्मानंद इंग्लिश मीडियम स्कूल शुरू करने के लिए ना केवल उनका धन्यवाद किया बल्कि स्कूल के खूबसूरत गार्डन, 5-5 लेबोरेट्री, लाईब्रेरी, बेहतर अधोसंरचना, अच्छे और सहयोगात्मक रवैया के शिक्षक नियोजित करने पर खुशी भी जाहिर की। उन्होंने कहा कि शासकीय स्कूल में अधोसंरचना सुदृढ़ कर, अंग्रेजी माध्यम में बेहतरीन शिक्षा का माहौल अंडर प्रिविलेजड बच्चों को देने का राज्य सरकार का निर्णय उनके जैसे कई बच्चों के जिन्दगी को एक नई दिशा दे रहा है।

ज्ञात हो कि आज मुख्यमंत्री श्री बघेल द्वारा विभिन्न विकास कार्यों के लोकार्पण-भूमिपूजन के साथ धमतरी शहर के बठेना में पिछले साल से शुरू किए गए स्वामी आत्मानंद इंग्लिश मीडियम स्कूल में 42 लाख की लागत से किए गए विभिन्न निर्माण कार्यों का लोकार्पण किया गया है। इस मौके पर मुख्यमंत्री ने स्कूल में पढ़ रहे इन दोनों बच्चियों से बातचीत भी की। इन बच्चियों की इंग्लिश में बोलने की स्पष्ट भाषा शैली और आत्मविश्वास ने मेनोनाईट स्कूल परिसर में कार्यक्रम में उपस्थित सभी लोगों का दिल तो जीता ही और बच्चियों की बात सुन मुख्यमंत्री के चेहरे पर मुस्कान भी बिखेर गया।

इसे भी पढ़ें  रायपुर: पढ़ई तुंहर दुआर पोर्टल के हमारे नायक कॉलम का एक वर्ष का सफरनामा