नैना बनी बस्तर की प्रेरणास्रोत - पर्वतारोही नैना सिंह धाकड़ का किया गया स्वागत और अभिनंदन : एवरेस्ट फतह के बाद नैना का आज नगर आगमन
नैना बनी बस्तर की प्रेरणास्रोत - पर्वतारोही नैना सिंह धाकड़ का किया गया स्वागत और अभिनंदन : एवरेस्ट फतह के बाद नैना का आज नगर आगमन

जगदलपुर 15 जून 2021

पर्वतारोही नैना सिंह धाकड अब बस्तर के सभी बच्चों के लिए प्रेरणा स्रोत बन गई है। नैना ने अपने साहस, हिम्मत और लगन से एवरेस्ट पर्वत की सबसे ऊँची चोटी पर देश-प्रदेश और आमचो बस्तर का झंडा लहराया है। मंगलवार को एवरेस्ट फतह कर वापस बस्तर आने पर  जिले की पर्वतारोही नैना सिंह धाकड़ का कलेक्टोरेट कार्यालय के प्रेरणा हाल में स्वागत और अभिनंदन कार्यक्रम में उपस्थित अतिथियों ने उक्त बातें कही।

इस अवसर पर संसदीय सचिव श्री रेखचंद जैन ने नैना को शुभकामनाएं देते हुए कहा कि बस्तर का नाम  रोशन करने और युवाओं को अपने लक्ष्य के लिए सतत लगन के साथ प्रयास करने हेतु नैना प्रेरित किया है ।इस अवसर पर संसदीय सचिव श्री जैन ने  नैना की भविष्य को ध्यान में रखते हुए राज्य शासन, जिला प्रशासन और एनएमडीसी से आजीविका हेतु प्रशासकीय पद में  नौकरी की सिफारिश किए। कार्यक्रम में महापौर श्रीमती सफीरा साहू, सभापति श्री कविता साहू,  संभाग आयुक्त श्री जी आर चुरेंद्र, आईजी बस्तर श्री सुंदरराज पी. कलेक्टर श्री रजत बंसल और एनएमडीसी के अधिशासी निदेशक श्री प्रशांत दास ने भी अपने उद्बोधन में नैना की सफलता की बधाई देते हुए उसके मेहनत की सराहना किए। कार्यक्रम में नैना ने अपने एवरेस्ट अभियान में मिली चुनौतियों और अनुभवों को साझा किया।

साथ ही मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल, कलेक्टरों श्री रजत बंसल और एनएमडीसी से मिले सहयोग के लिए आभार व्यक्त किया। विशेष रूप से कलेक्टर श्री बंसल से मिले प्रेरणा की भी जानकारी दी। इस अवसर पर नैना के माता जी, परिवार के अन्य सदस्य भी उपस्थित रहे।

इसे भी पढ़ें  दंतेवाड़ा के विकास के लिए समन्वित प्रयास करें: मुख्य सचिव श्री जैन : पूना माड़ाकाल दंतेवाड़ा (गढ़बो नवा दंतेवाड़ा) के तहत होगा दंतेवाड़ा का सर्वांगिण विकास

संसदीय सचिव श्री जैन ने नैना को साल और स्मृति चिन्ह भेंट किए।जिला प्रशासन की ओर से कमिश्नर, आईजी और कलेक्टर ने साल-श्रीफल और स्मृति चिन्ह भेंट किए। इस अवसर पर अपर कलेक्टर श्री अरविंद एक्का, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक श्री ओपी शर्मा सहित अन्य प्रशासनिक अधिकारी, एनएमडीसी के अधिकारी और पत्रकारगण उपस्थित थे।

क्रमांक/654/शेखर